अम्मी ने अपनी सहेली की चुदाई करवाई

शकील अगले ही दिन घर पर आ गया. अम्मी ने सुनीता से फोन किया और कहा- तुमसे मिलने कोई आया है, घर पर आ जाओ.
सुनीता समझ गई कि शकील उससे मिलने आया होगा. उसने अम्मी को कहा- मैं शाम को आऊंगी.

मेरे अब्बू देर रात को घर आते थे.

सुनीता करीब 6:00 बजे शाम को घर पर आई. कमरे में बस तीन ही लोग थे, अम्मी, शकील और सुनीता!
मैं अपना फोन रिकॉर्ड ऑन करके बाहर निकल गया क्योंकि मुझे पता था मैं यहां पर कैसी बात होने वाली है.

अम्मी ने सुनीता को कहा- आओ तुम्हारा खास मेहमान तुमसे मिलने आया है.
सुनीता इस पर हल्की सी हंस दी.
अम्मी ने कहा- तुम दोनों बैठ कर बात करो, मैं तुम्हारे लिए चाय बना कर लाती हूं.

शकील ने कहा- मामी ने तुम्हारी सारी बात बताई, तुम तैयार क्यों नहीं हो?
सुनीता ने कहा- मैं ऐसा नहीं कर सकती. अपने शौहर से दगा नहीं कर सकती!
शकील ने कहा- ऐसी शादी किस काम की जो वह तुम्हें खुश नहीं कर पाता.

तो सुनीता थोड़ी डर गई, उसने कहा- तुम्हारी मामी भी यहीं पर है. तुम थोड़ा धीरे बात करो!
इस पर शकील ने कहा- वह मेरी प्यारी मामी है, वह मुझे कुछ नहीं कहेगी.
सुनीता ने इस पर कहा- क्यों? ऐसा क्या प्यार?

शकील ने सुनीता को कहा- मैं बचपन से यहीं रहा हूं और मेरी मामी मेरी सारी बात जानती है.
इस पर सुनीता चौंक पड़ी, उसके मुंह से सीधा ही निकला- क्या वह तुम्हारी चुदाइयों के बारे में भी जानती है?
शकील थोड़ा हंसने लगा और कहा- खुद मुझसे चुदती है.

सुनीता को यकीन नहीं आया. उसने कहा- क्या बात कर रहे हो?
शकील बोला- हां, सच कह रहा हूं.
इस पर सुनीता ने कहा- अगर ऐसी बात है तो मुझे भी तुम्हारी चुदाई देखनी है क्योंकि मुझे यकीन नहीं हो रहा!

शकील ने कहा- मैं तुम्हें भरोसा तो दिला दूंगा लेकिन तुम्हें मेरे साथ सोना होगा?
इस पर सुनीता ने कहा- ठीक है … लेकिन पहले मुझे भरोसा दिलाओ.

अम्मी कुछ देर बाद चाय लेकर अंदर आ गई. सर्दियों के दिन होने की वजह से अम्मी अपनी बेड पर रजाई में बैठी थी तो शकील भी उसी रजाई में बैठ गया.
सुनीता साइड में सोफे पर बैठी थी.

शकील ने सुनीता की तरफ आंख मारी और कहा- ज्यादा सर्दी है, तुम भी यहां आ जाओ.
अम्मी ने भी उसे रजाई में आने को कहा.

सुनीता बिना किसी आनाकानी के रजाई में आ गई. अब तीनों क्रमवार बैठे हुए थे पहले सुनीता, फिर शकील उसके बाद अम्मी.
अम्मी और शकील का एक एक हाथ रजाई के अंदर था. शकील ने अम्मी का हाथ पकड़ा, अपने लंड को रजाई के अंदर ही बाहर निकला और अम्मी के हाथ में थमा दिया.
और अपना हाथ अम्मी जाँघों पर फिराने लगा.

थोड़ी देर बाद उसने सुनीता का हाथ पकड़ा और अपने लंड की तरफ लेकर गया. अम्मी शकील का लंड सहला रही थी. सुनीता का हाथ अम्मी के हाथ के ऊपर था.
सुनीता आप समझ चुकी थी कि अम्मी शकील के लंड की गुलाम है.

और शकील ने अपने दोनों हाथ बाहर निकाल लिए.
दोनों ही चौंक गई.

अम्मी शकील की तरफ गुस्से में देखने लगी और सुनीता हंसने लगी.
इस पर शकील ने अम्मी को आंख मारी और हंसने लगा.

उसने अपनी मामी की कमर में हाथ डाल और कहा- मेरी जान, इसको सब पता है. इसने यह शर्त रखी थी कि कि तुम अपनी मामी और अपनी चुदाई की बातों का यकीन दिलाओ. तब जाकर मैं तुम्हारा साथ दूंगी. वैसे भी सुनीता तो तुम्हारी बहन की तरह ही है.

इस पर सुनीता हंसती और कहा- हमारा भांजा हम दोनों बहनों को चोद देगा.
अम्मी भी नॉर्मल हो गई और कहा- यह चोदता नहीं, भोसड़ा बना देता है.
तो सुनीता ने हंसकर कहा- हमें भी तो ऐसा ही लंड चाहिए.

सुनीता को शकील के लंड का अंदाजा हो गया था.

शकील ने सुनीता को कहा- अब तुम्हें अपना वादा पूरा करना होगा.
सुनीता ने कहा- ठीक है, आज मेरे पति की नाइट ड्यूटी हैं तभी तो मैं तुम्हारे बुलाने पर आ गई थी.
तो उस पर अम्मी ने कहा- तुम आज यहीं पर सो जाना.

सुनीता ने फोन मिलाया और अपने पति को कहा- मैं आज इकरार के घर पर सो जाती हूं क्योंकि अकेले में मुझे डर लगता है.
उसके पति ने हां कर दी जिस पर शकील काफी खुश हो गया.

और अम्मी ने भी एक राहत की सांस ली क्योंकि अम्मी को पता था कि शकील अब सुनीता के चक्कर में बार-बार घर आया करेगा. सुनीता की चुदाई के साथ-साथ मुझे भी लंड मिलेगा.

शाम को सबने खाना खाया. अब्बू दूसरे कमरे में सो गये.

मैंने रिकॉर्ड सेट किया और सोने का नाटक करने लगा.

अम्मी और शकील एक बेड पर सो रहे थे. वहीं दूसरा छोटा बेड उस कमरे में था जिस पर सुनीता लेटी हुई थी.

सर्दी की रातें थी. 11:00 बजे उन्हें लगा कि सब सो गए.
तो अम्मी उठी, उन्होंने सुनीता से कहा- इसी बेड पर आ जाओ.
सुनीता मुस्कुराकर अम्मी के बेड पर आ गई. तीनों एक ही बेड पर थे.

शकील की लोअर पहले से ही नीचे थी, उसका लंड अम्मी के हाथों में था. सुनीता को यह बात पता थी जिसकी वजह से वह सीधी उनके राइट साइड आके लेट गयी.
अम्मी ने शकील का लंड सहलाते हुए कहा- आज मेरी बहन की सुहागरात है शकील! इसे बुरी तरह से चोदना.

शकील ने हंसते हुए कहा- तुम मेरा लंड कई बार खा चुकी हो, मैं हर बार तुम्हें रंडी की तरह चोदता हूं.