प्यासी आंटी और उसकी बेटी की चुदाई

हैल्लो दोस्तों, मैं कपिल आज अपनी एक और मस्त कहानी में आप सबका बहुत बहुत स्वागत करता हूँ आज की ये मस्त कहानी मेरे और मेरे सामने रहने वाली मधु आंटी के बीच हम दोनों की पहले सेक्स की कहानी है। आंटी को जमकर चोदने के बाद मुझे उनकी बेटी की गांड फ्री में मारने को मिल गई अब दोस्तों ये सब मेरे साथ कैसे और कब हुआ जानिए पूरी कहानी पढ़कर।

ये बात तब की है जब मैं 21 साल का था मैं पटियाला में रहता हूँ मेरे घर में मैं और मेरे मम्मी पापा ही रहते है मैं अपने माँ बाप का एकलौता बेटा हूँ इसलिए वो मुझे बहुत प्यार करते है मेरी मम्मी की मधु आंटी एक बहुत ही अच्छी दोस्त है मधु आंटी मेरे घर के एकदम सामने वाले घर में रहती है। उनके पति हमेशा ही बाहर रहते है वो सिर्फ़ 1 महीने में 2 बार ही घर आते है आंटी के दो बच्चे है एक लड़की का नाम मैना और एक बेटे का नाम राज है मैना उम्र में मुझसे बड़ी थी उसकी उम्र 23 साल थी मुझे वो बहुत ही अच्छी लगती थी सच कहूँ तो मैं उससे प्यार करने लग गया था उसकी 34 की गांड पर मैं अपनी जान देता था सच में काफ़ी ही ज़्यादा सेक्सी थी वो। पर उसकी माँ मधु भी कुछ कम नहीं थी वो भी साली इस उम्र में भी एकदम 21 साल की जवान लौंडियाँ के जैसी लगती थी। ये बात इस साल की गर्मियो की है आंटी के दोनों बच्चे किसी काम से एक दिन के लिए बाहर गये हुए थे उसी दिन मेरे मम्मी पापा और मुझे भी एक शादी में बाहर जाना था तभी आंटी मेरे घर आई और बोली क्या आज रात के लिए कपिल मेरे साथ मेरे घर पर सो सकता है क्या, क्यूंकि मेरे दोनों बच्चे बाहर गये हुए है मम्मी की अच्छी दोस्त होने के कारण मम्मी ने उसे हाँ कह दिया और मुझे शादी में जाने से मना कर दिया ये सुनकर मुझे बहुत ग़ुस्सा आया पर मुझे बाद में समझ आया की जो होता है अच्छे के लिए ही होता है। मम्मी पापा मुझे आंटी के पास छोड़कर चले गये आंटी ने मुझे कहा की तुम्हें डिन्नर मेरे घर पर ही करना है फिर रात को 9 बजे हम दोनों ने एक साथ डिन्नर कर लिया उसके बाद मैं और आंटी एक साथ एक ही बेडरूम में आ गये।

आंटी ने पिंक कलर का गाउन पहना हुआ था देखने में आज आंटी किसी हिरोईन से कम नहीं लग रही थी मैं उनके साथ बैठकर टीवी देख रहा था हम दोनों कोई फ़िल्म देख रहे थे और साथ ही साथ बातें कर रहे थे कुछ ही देर बाद आंटी ने कहा की बेटा मैं सो रही हूँ और आंटी फिर लेट गई और मैं लेटा लेटा टीवी देख रहा था उस समय रात के 11 बजे चुके थे मैंने देखा की आंटी भी अब सो चुकी है इसलिये मैंने टीवी पर एक चैनल लगा दिया इस समय उस पर मॉडल नाइट फोटोशूट चल रहा था सच में काफ़ी सेक्सी सेक्सी लड़कियां ब्रा और पेंटी में होती है मैं बड़े आराम से उन्हें देखकर मज़े ले रहा था तभी आंटी उठी और बोली बेटा अब तू सो जा और कितना टीवी देखेगा, मैंने कहा हाँ जी आंटी बस अभी बंद कर रहा हूँ। मुझे लगा की शायद आंटी ने टीवी पर देख लिया था की मैं क्या देख रहा हूँ। मैं अब आराम से लेटा हुआ था तभी आंटी बोली कपिल तुम इस समय टीवी पर क्या देख रहे थे? मैं उनका ये सवाल सुनकर डर सा गया और बोला कुछ नहीं बस ऐसे ही, बस आंटी मैं तो टाइम पास कर रहा था।

आंटी :- क्या तुम्हें ये चैनल अच्छा लगता है?

मैं :- हाँ जी आंटी जी मुझे ये अच्छा लगता है देखना।

आंटी :- भला इसमें क्या मज़ा इसमें असली चीज़ तो दिखती ही नहीं।

ये सुनते ही मैं डर गया मेरी गांड फट गई इसलिए मैं बोला सॉरी आंटी मुझे माफ़ करना मैं आज के बाद ये चैनल नहीं देखूँगा प्लीज़ आप ये बात मम्मी को मत बता देना बस, आंटी बोली अरे नहीं बताऊँगी कुछ मैं, प्लीज़ अब तुम आराम से बिना किसी फ़िक्र के सो जाओ। मैं आंटी की ये बात सुनकर आराम से सोने लग गया मैं अपनी आँखें बंद करके बड़े आराम से बेड पर सोया हुआ था मुझे नींद नहीं आ रही थी पर फिर भी मैं अपनी दोनों आँखें बंद करके लेटा हुआ था। तभी मुझे महसूस हुआ की किसी ने मुझे टच किया है जब मैंने देखा तो आंटी मेरे लंड के ऊपर से ही अपना हाथ फेर रही है अगले ही पल आंटी ने मेरा लंड अपने हाथ में ले लिया और बोली अब देखो मैं तुम्हें आज रात असली मज़ा देती हूँ। मैं कुछ नहीं बोला और आराम से आंटी के मज़े लेने लग गया इतने में आंटी ने मेरे लंड को ज़ोर ज़ोर से ऊपर नीचे करना शुरू कर दिया मुझे अब बहुत मज़ा आ रहा था। देखते ही देखते आंटी ने मुझे नीचे से पूरा नंगा कर दिया और खुद नीचे जाकर वो मेरा लंड चूसने लग गई सच में अब मुझे बहुत मज़ा आ रहा था। आंटी ने धीरे धीरे अपने और मेरे दोनों के कपड़े निकालने शुरू कर दिए, अब मैं और आंटी हम दोनों पूरे नंगे थे आंटी ने मेरा सिर पकड़कर अपने बूब्स में रख दिया और कहा चूस राजा इसे चूसकर बता की तुझे मज़ा आता है या नहीं, मैं आंटी के मोटे मोटे बूब्स को अपने मुहँ में भरकर चूसने लग गया सच में मुझे बहुत मज़ा आ रहा था। अब मैं बूब्स चूसने के साथ साथ आंटी की चूत को अपने हाथ से रगड़ रहा था और उसमें ऊँगली भी कर रहा था आंटी की चूत काफ़ी गरम हो चुकी थी तो पानी छोड़ रही थी और आंटी भी मेरे लंड को अपने हाथ में पकड़कर ज़ोर ज़ोर से मसल रही थी तभी मैंने मौका देखकर आंटी से कहा आंटी मुझे आपकी बेटी बहुत पसंद है उसकी गांड ने मेरी रातों की नींद उड़ा रखी है मुझे नहीं पता मुझे उसकी गांड मारनी है, बस।

Pages: 1 2

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *