बैंक वाली भाभी की चुदाई

हेल्लो दोस्तों मेरा नाम लोकेश है और मेरी उम्र 27 साल है और मैं एक बैंक में जॉब करता हूँ|मेरे साथ 6 लकिया और हे जो मेरी ब्रांच में ही काम करती है|मैं दिखने में काफी हैण्डसम हूँ और मेरी हाइट काफी अच्छी है|मुझ पर काफी लड़कियां मरती भी है|और ये देख कर मुझे बहुत अच्चा भी लगता है और लगे भी क्यों न आखिरकार मैं एक मर्द हूँ|आज मैं आपके लिए एक कहानी ले कर आया हूँ तोह आपका बिना कोई समय गवाए आपको कहानी पर ले कर चलता हूँ|मेरे साथ एक गीता नाम की औरत बैठती है जो की शादीशुदा है और उसकी एक बेटी भी है|उसका पति आर्मी में है तोह वो हमेशा बहार ही रहता है|घर पर सिर्फ वो और उसकी बेटी ही रहती है|

गीता दिखने में बिलकुल सीधी साधी सी लगती है और बहुत ही सिंपल कपडे पहनती कर आती है|गीता की एक लड़की है जिसका नाम हीना है और वो 4 साल की है|गीता कई बार उसे ऑफिस में भी ले आती है जिससे की ऑफिस में काफी अच्चा माहोल बन जाता है| मुझे तोह वेसे भी बच्चे बहुत ही जयादा पसंद है इसलिए मैं उसके लिए हमेशा कुछ खाने पिने के सामान अपने लोक्कर में रखता हूँ और जब भी वो आती है तोह मैं उसे हमेशा कुछ न कुछ देता रहता हूँ|वेसे उसकी बेटी बहुत ही ज्यादा क्यूट है और सच बताऊ तोह भी मैं इसके साथ टाइम स्पेंड करने लगता हूँ तोह मेरा मन करता है ही सारा टाइम उसी टाइम ही लगा रहू|

एक दिन की बात है हम दोनों ऑफिस में काम कर रहे थे की तभी गीता के पास एक फ़ोन आया और वो फ़ोन सुन कर रोने लग गयी|रोते हुए देख कर मैं उससे पूछने लग गया की क्या हुआ तोह वो बोली की हीना के स्कूल से फ़ोन था और हीना की तबियत बहुत ही ज्यादा ख़राब है|ये सुन कर मैं भी थोडा घबरा गया और फिर मैंने उससे कहा की चलो मैं भी तुम्हारे साथ चलता हूँ तोह वो मान गयी और मां जल्दी से हीना के स्कूल पहुच गये|स्कूल पहुच कर पता चला की डॉक्टर कह रहे थे की वो अकेले पन की वजह से बीमार हो गयी है इसलिए हमे उसके साथ ज्यादा से ज्यादा टाइम स्पेंड करना चाहिए जिससे उसको ये कमी का एहसास ही न हो|हम दोनों वही डॉक्टर पास खड़े थे और उनकी बात को अच्छे से समझ रहे थे|उनके सब कहने के बाद हम हीना से मिले तोह वो सो रही थी तोह डॉक्टर बोले की घबराने वाली बात नही है अभी थोड़ी देर में होश में आजायेगी|फिर जब थोडी देर बाद उसे होश आया तोह हम उसके साथ काफी अच्छे से बाते करने लग गए और उसे हसाने लग गये|

फिर थोड़ी देर बाद हम उनको घर पर ले आये|वो मेरे साथ पुरे रास्ते मस्ती करती आई और मैं उनके साथ ऐसे ही मस्ती करता हुआ आया|हम तीनो कब घर पहुच गये हमें पता ही नही चला और फिर हमारी मस्ती घर पर भी होती रही|ये देखकर गीता बहुत खुश हुई और इतने में कुछ हमारे लिए बना कर लाती हीना मेरी गोद में ही सो गयी थी|हीना को सोता देख कर वो बोली की लयो इसे मैं बेडरूम में लेटा आती हूँ तोह बोला की कोई बात नही मैं लेटा आउगा|फिर मैं उसे गोद में उठाया और उसे बेडरूम में लेटा दिया और फिर जब मैं बहार आया तोह गीता मुझे देख कर बहुत खुश हुई|मैंने उसके फेस पर हे ख़ुशी देख कर उससे ख़ुशी का रीज़न पूछा तो वो बोली की मैंने आजसे पहले हीना को इतना खुश नही देखा जितना की आज आपके साथ देखा है|

इसलिए आज जो भी आप मुझे से लेना चाहते हो मुझे बे हिचक कह दो|तब मैं सोचा में पड़ गया की मैं इन्हें ऐसा क्या कहू तोह मैंने उन्हें कहा की आप जो देना चाहती हो वोदेदो|तब उसने मुझसे ठीक है कहा और मेरे से आकर जप्पी पा ली|मैं उससे पीछे करने की कोशिश करने लग गया तोह वो मुझसे और चिपक गयी और फिर मैंने भी उसे बाहों में जकड लिया|फिर मैं भी समझ गया की वो मुझसे क्या चाहती है इसलिए मैंने भी अब उसको बाहों में जकड कर उसके दूध दबाने लग गया और वो मेरा लंड पकड़ कर वो दबाने लग गयी|हम दोनों को काफी मजा आ रहा था और फिर मैंने उसके सरे कपडे उतार दिए और अपने कपडे भी उतार दिए|

पर हाँ उसने मेरे लंड को हाथ में से नही छोड़ा तोह मैंने उसे ये चूसने को कहा तो वो चूसने लग गयी और मुझे भी ये सब बहुत अच्छा लगने लग गया|उसने करीब 10 मिनट तक लंड को चूसने के बाद में मैं 69 पोजीसन में आ गया और उसकी चूत चाटने लग गया|उसकी चूत एक दम चिकनी थी और पानी से भीगी हुई थी|मेरे थोड़े से चाटने से ही उसका पानी निकाल गया तोह मैंने वो सारा पि लिया और फिर वो कहने लग गयी की अब तोह मुझे लंड देदो तोह मैंने भी बिना न्कोई देर किये उसकी चूत पर अपना लंड रखा और जोर का धक्का दे कर उसकी चिकनी चूत में घुसा दिया|फिर वो जोर जोर से चिलाने लग गयी और मैं उसे चोदने लग गया|

थोड़ी देर बाद उसे मजा आने लग गया तोह वो मेरा साथ देने लग गयी और फिर मैंने उसकी चूत करीब 10 मिनट चोदी और फिर उसकी चूत में ही पानी निकाल दिया|बस तब से मैं उनकी बेटी की ख़ुशी के लिए मिलने के लिए चला जाता हूँ और उसकी और अपनी सेक्स की प्यास को भी भुजा आता हूँ|

Pages: 1 2

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *