भाभी की चौड़ी गांड ने दीवाना बनाया

हैल्लो फ्रेंड्स, कैसे हैं आप सभी ? मैं उम्मीद करता हूँ कि आप सभी खुश होंगे और चुदाई के लिए समय तो निकाल ही लेते होंगे | दोस्तों, मैं भी आप लोगों की तरह Free Hindi Sex Stories का पाठक हूँ और अक्सर इस वेबसाइट पर चुदाई की कहानियां पढ़ता हूँ |मेरा नाम नीरव है और मैं जालंधर का रहने वाला हूँ | मेरी उम्र 27 साल है और मैं नौकरी करता हूँ | मैं दिखने में औसत हूँ और मेरी कद काठी अच्छी है | मेरे लंड का साइज़ 7 इंच लम्बा और 3 इंच मोटा है | दोस्तों ये मेरी पहली कहानी है | अगर आप लोगो को इस कहानी में कोई गलती नजर आये तो मुझे माफ़ करना | मैं उम्मीद करता हूँ कि आप सभी को मेरी ये कहानी जरुर पसंद आयगी और इसे पढ़ कर आप को बहुत मजा भी आयगा |

loading…

मेरे घर में मेरे अलावा मम्मी और पापा हैं और मेरे बड़े भाई हैं जिनकी शादी हो चुकी है और वो अभी दिल्ली में जॉब करते हैं | उनकी बीवी यानि की मेरी भाभी का नाम पूजा है और वो दिखने में गोरी हैं और उनका फिगर बहुत ही सेक्सी है | उनके दूध बड़े हैं और सेक्सी फिगर के साथ वो चौड़ी गांड की मल्लिका भी हैं | जब से भैया दिल्ली गये हैं तब से ही मेरी नजर पूजा भाभी के बड़े मम्मो और गांड पर रहती थी | मैं भाभी को रोज लाइन देता था और मौका मिलने पर कहीं भी छु देता था | पूजा भाभी मुझे कभी भी कुछ नही बोलती थी जिस वजह से मेरी हिम्मत और बढ़ गयी | अब मैं भाभी को मजाक मजाक में उनकी गांड पर हाँथ मार देता और भाभी मुझे मुस्कुरा कर जवाब में आँख मार देती |

एक दिन की बात है मम्मी और पापा बाजार गये हुए थे | मैं और पूजा भाभी अकेले थे घर में | भाभी उस समय किचन में नाश्ता बना रही थी | मैं भी खाली ही बैठा था तो मैंने सोचा कि चलो भाभी से ही मस्ती मजाक किया जाए | अब मैं भाभी के पास गया और भाभी से कहा कि भाभी एक बात बोलूं ? भाभी ने कहा कि हाँ बोल क्या बोलना है ? मैंने भाभी से कहा कि भाभी आप मुझे बहुत अच्छी लगती हो | उन्होंने कहा अच्छा जी और वो क्यू ? मैं बोला भाभी मैं आप से बहुत प्यार करता हूँ और आपको बहुत प्यार करना चाहता हूँ | भाभी ने कहा कि तू तो मेरा देवर है फिर भी | मैंने कहा कि भाभी क्या करू ? प्यार उम्र रिश्ते देख कर और उम्र देख कर थोड़ी होता है | मैं बस आप से प्यार करता हूँ और मैं बस आपको अपना बनाना चाहता हूँ | भाभी बोली अगर हमारे रिश्ते के बारे में किसी को पता चल गया तो आफत हो जायगी | तो मैंने भाभी से कहा कि भाभी किसी को भी हमारे रिश्ते के बारे में किसी को भी नही पता चलेगा | अब भाभी भी लगभग मान चुकी थीं | दिक्कत ये थी की मौका मिलते ही बस हम किस ही कर पाते थे | कभी-कभी मैं भाभी के दूध दबा देता था लेकिन उससे मेरा मन नही भरता था |

एक दिन भाभी ने खुद से मुझे कहा कि नीरव इतना सब करने से कुछ नही होगा मुझे कुछ और भी चाहिये | मैं बोला भाभी अपने पास मौका भी तो नही मिल रहा है नहीं तो मैं आपको इतने मजे दूंगा कि आप सोच भी ना पाओगे | किस्मत अच्छी थी क्यूँ एक दिन हमे मौका मिल ही गया | मेरे मम्मी और पापा दोनों किसी पापा के दोस्त के फंक्शन में गए हुए थे | वो लेट आने वाले थे तो मैंने भाभी से कहा कि भाभी आज मौका है तो भाभी खुश हो गयी | उसके बाद मैंने भाभी को पानी बांहों में जकड़ लिया |

इतना कह कर उन्होंने मुझे धक्का दे दिया | मैं सीधा सोफे पर जा कर गिरा | फिर वो आई मेरे पास और मेरे लंड को हिलाने लगी | तो मैंने कहा कि यार यहाँ ये सब करना ठीक नहीं होगा | क्यू न मेरे कमरे में चलते है | तो उसने कहा ठीक है | फिर मैं उसे अपने कमरे में लेकर गया | फिर मैंने कहा कि लगता है तुम बहुत चुदासी हो चुकी हो | वैसे कितने दिन से नहीं चुदाई तुम्हारी | तो उसने बताया कि मैं तीन महीने से नहीं चुदी हूँ | अब सोचो मेरी चूत का कैसा हाल हुआ होगा | मेरे होंठ में अपने होंठ रख दिए और मेरे होंठ को चूसने लगी | मैं भी चुदासा था तो मैं क्यू हाँथ आया मौका छोड़ता | मैं भी उसका साथ देते हुए उसके होंठ को चूसने लगा | वो मेरे होंठ को चूसते हुए मेरे लंड को पकड के हिलाने लगी | मैं भी उसके होंठ को चूसते हुए उसकी चूत में ऊँगली करने लगा |

फिर उसके बाद मैंने उसकी साड़ी उतार दी और फिर उसके ब्लाउज को खोल कर मैं उसके ब्रा के ऊपर से ही उसके दूध को मसलने लगा | और वो आआ हाआ ऊऊन्न्ह ऊऊ म्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहा आअहाअ अह हहा हहहा आअ अह हहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहह हाआआअ आहा आआ उन्ह ऊउन्न्ह ऊउ म्म्ह आहा आआ आहा ऊउ म्म्ह ऊउन्न्ह आअ हाआअ करते हुए मेरे हाँथ को सहलाने लगी | फिर मैंने उसके ब्रा के भी खोल दिया और फिर उसके बड़े बड़े दूध को अपने मुंह में ले कर चूसने लगा | और वो आआ हाआ ऊऊन्न्ह ऊऊ म्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआ अहाअ अहहहा हहहा आअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहा आआअ आहा आआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआ आहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए कहा कि पी लो जान मेरे इन भरे हुए दूध को | बहुत दूध बार हुआ है इसमें | मैंने भी कहा हां मेरी जान और मसल मसल के उसके दूध पीने लगा | उसके मुंह से लगातार आआ हाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउ म्म ऊउन्न्ह अहहा आअहाअ अहहहा हहहा आअ अहह हाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहा आआअ आहाआ आउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआ आहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आ अहा आअ की आवाजे निकल रही थी और उसकी चूत भी गीली हो चुकी थी | फिर वो मेरे लंड को पकड़ के चाटने लगी और लंड के सुपाडे पर अपनी जीभ फेरने लगी | मैं भी आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहा आअहाअ अहहहा हहहा आअ अहहहा आ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहा आआअ आहाआ आउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए सिस्कारिया लेने लगा | मेरे लंड को पूजा भाभी बहुत अच्छे से चाट रही थी ऐसा लग रहा था जैसे स्वाद ले रही हो |

Pages: 1 2

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *