बीवी, बहन और कमसिन साली मेरी चुदाई का संसार

आप सभी ने मेरी पिछली कहानी
होली में चुदाई का दंगल
पढ़ी होगी कि कैसे होली के इस दिन पर हम ताश खेलते हुए मैं अपनी हॉट, मॉडर्न ख्यालात वाली बहन की घमासान चुदाई करता हूं. उसके साथ में अपनी हॉट साली की भी चुदाई करता हूं. आपको बता दूँ कि वो दोनों इतनी हॉट हैं कि कोई भी उनको एक बार देखकर चोदने का जरूर सोचेगा.
उस दिन मैंने अपनी वाइफ, बहन और साली को मजे से चोदा था जो मेरी जिंदगी का सबसे बेहतरीन दिन था. मेरी बीवी उन दोनों से भी ज्यादा सुंदर और हॉट है.
अब आगे:

शाम के 7 बजे के करीब मेरी नींद खुली, तब वहां बेड पर सिर्फ दिशा ही सो रही थी. शायद राधिका और सोनल उठकर रूम से बाहर चली गई थीं. दिशा को नग्न अवस्था में देखकर मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया. मैं दिशा के करीब होकर उसके मम्मे मसलने लगा, जिससे दिशा भी कुनमुनाती हुई उठ गई.

उसने मुझे दूध दबाते देखा, तो वो भी मुझसे लिपट गई. हम दोनों एक दूसरे को किस करने लगे, तभी मेरी हॉट बहन सोनल रूम में आ गई.
सोनल- भाई अब बस भी करो, अभी पूरी रात पड़ी है.
मैंने उसकी ओर देखा, सोनल ने कपड़े पहन लिये थे, लेकिन फिर भी उसका नग्न बदन दिख रहा था.

सोनल- चलिए उठिए आप दोनों फ्रेश हो जाइए.
इतना कहकर सोनल रूम से बाहर चली गई.

मैं- दिशा चल उठ, बाथरूम जाना है … तुम मेरे साथ नहाना पंसद करोगी?
दिशा- हां जीजू, चलिए.

फिर दिशा बेड से खड़ी होने कोशिश करने लगी, लेकिन घमासान चुदाई के वजह से वो एक पल के लिए लड़खड़ा गई. मैंने उसे सहारा दिया, तो वो खड़ी तो गई लेकिन वो ठीक से चल नहीं पा रही थी. ऐसी हालत सोनल की भी थी. फिर मैं दिशा को बाथरूम ले जा गया और हम उधर हम दोनों रोमांस करते हुए नहाने लगे. हम दोनों एक-दूसरे को किस कर रहे थे. मैं उसके पूरे बदन पर हाथ घुमा रहा था. अभी मुझे दिशा को चोदने का मन कर रहा था, लेकिन अभी दिशा चुदने की हालत में नहीं थी. सोनल ने भी मुझे याद दिला दिया था कि अभी मेरे पास पूरी रात पड़ी थी.

करीबन आधे घंटे तक हम नहाते रहे, फिर हम दोनों बाहर आ गए. दिशा अपने कपड़े पहनने के लिए अपने रूम में चली गई. मैं भी कपड़े पहनकर रूम से बाहर निकल आया.

हॉल में दिशा ओर राधिका दोनों सोफे पर बैठकर मूवी देख रही थीं. मैं राधिका के पास जाकर बैठ गया और सोनल तरफ देखकर हल्की स्माइल दे दी.

मैं राधिका से बोला- हनी, खाने का क्या प्लान है?
राधिका- बाहर से मंगवाया है, अभी आ जाएगा.
मैंने सोनल से पूछा- सोनल, मजा आया न?
सोनल- बहुत ज्यादा, लेकिन दर्द हो रहा है.
राधिका- अब दर्द की आदत डाल ले, आगे जाकर बहुत दर्द मिलेंगे.

राधिका बात सुनकर हम दोनों हंसने लगे. तभी दिशा भी शॉर्ट पहनकर लंगड़ाते हुए आ गई. उसकी लंगड़ी चाल देखकर हम तीनों हल्की स्माइल करने लगे.
राधिका- कैसी हो मेरी प्यारी बहना, ज्यादा दर्द तो नहीं हो रहा, कैसा लगा अपने जीजाजी का लंड?
दिशा सोनल के पास बैठकर बोली- जीजाजी का लंड बिल्कुल घोड़े जितना बड़ा है, ऐसे चोदकर हमारी बजा दी, मानो हम उसकी रखैल हों.

मैं- सच बोलूं तो … आज मैं बहुत खुश हूं कि अब मेरे पास तीन हॉट माल हैं. आज रात को फिर से चुदाई का खेल हो जाए.
सोनल- भाई, अब नहीं … फिर कभी, बहुत दर्द हो रहा है.
दिशा- सोनल ठीक बोल रही है, अगर अभी आपको चोदने का मन कर रहा है, तो आप मेरी बहना को चोद लेना.
मैं- लेकिन मुझे तो तुम दोनों को चोदने है.
सोनल- भाई कल चोद लेना, आज नहीं.
मैं- सिर्फ एक राउंड, प्लीज.

तभी डोरबेल बजी, तो राधिका खड़ी होकर दरवाजा खोलने चली गई.
दिशा- ठीक है, लेकिन सिर्फ एक ही राउंड होगा.
मैं- ओके.
सोनल- भाई आप वादा करो, धीमे चोदेंगे.
दिशा- हां सोनल ठीक बोल रही है … जीजाजी आपको वादा करना पड़ेगा.
मैं- मैं वादा करता हूं.

तभी राधिका खाना लेकर आ गई और डाइनिंग टेबल तरफ बढ़ गई. हम भी खाना खाने के लिए वहां आ गए. मेरे पास राधिका बैठी थी.

फिर राधिका ने खाना परोसना शुरू किया. हम चारों को बहुत भूख लगी थी, इसलिए खाना शुरू कर दिया.

राधिका ने सोनल तरफ देखकर कहा- हां तो तुम दोनों ने क्या डिसाइड किया, क्या रात को चुदने के लिए तैयार हो?
सोनल- सिर्फ एक राउंड की बात तय हुई है … वो भी स्लोली स्लोली …

तभी राधिका मेरी ओर देखकर मुस्कराने लगी, मैंने भी उसको स्माइल दे दी.
राधिका- राज, आज तुमको सबसे ज्यादा किसको चोदने में मजा आया?
यह सुन कर सोनल और दिशा दोनों ही मेरी ओर इस तरह देखने लगीं जैसे एग्जाम के बाद नम्बर मिलने का समय आ गया हो.
मैं- मुझे तुम तीनों को चोदने में मजा आया.
राधिका- नहीं … ऐसे नहीं … किसी एक नाम तो लेना ही पड़ेगा.
मैं- सबसे ज्यादा मुझे दिशा को चोदने में मजा आया.

तभी दिशा के चहरे पर थोड़ी मुस्कराहट दिखने लगी.
राधिका- दिशा को क्यों?
मैं- दिशा का फिगर इतना हॉट है कि क्या बताऊँ.
सोनल ने तुनक का कहा- भाई, क्या मैं इतनी हॉट नहीं हूँ?
मैं- तुम भी हॉट माल हो, लेकिन दिशा के मम्मे और उसकी लचकदार गांड को देखकर मैं अपने आपको कन्ट्रोल नहीं कर पाता हूँ. सच बताऊं तो आज मैं सबसे पहले दिशा को चोदना चाहता था.
राधिका- अब मुझे समझ में आया कि तुम तब क्यों सोनल को छोड़कर दिशा को चोदने लगे थे.

Pages: 1 2 3

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *