क्लास की लड़की को होटल में चोद कर मजा आ गया

काजल और मैं उठकर अपने क्लास में चले गए, हम लोग जब क्लास में गए तो कुछ देर बाद हमारे टीचर आ गए और वह हमें पढ़ाने लगे। जब हमारी क्लास खत्म हुई तो उसके बाद मैं सीधा ही अपने पीजी में चला गया। उस दिन काजल ने मुझे फोन किया और काजल से मेरी काफी देर तक बात हुई। अगले दिन जब मैं काजल के साथ अपनी क्लास में बैठा हुआ था तो उस दिन यह बात करन को बिल्कुल भी अच्छी नहीं लगी और करन हमारे साथ बैठ गया वह कहने लगा कि तुम काजल के साथ क्यों बैठे हो, मैंने करन से कहा कि काजल मेरी अच्छी दोस्त है इसलिए हम दोनों साथ में बैठे हुए हैं लेकिन करन को मुझ पर बहुत गुस्सा आ गया और उसने मुझे धक्का मार दिया। जब उसने मुझे धक्का मारा तो उसके बाद मैं दूसरी सीट पर जाकर बैठ गया लेकिन काजल को यह बात बहुत बुरी लगी और उसने करन को कहा कि तुम आज के बाद कभी भी मुझसे बात मत करना। उसके बाद करन और काजल की बात बंद हो गई। काजल, करन के साथ बिल्कुल भी बात नहीं करती थी। अब काजल और मैं साथ में ही कॉलेज में आते थे, हम लोग क्लास में भी साथ में बैठा करते थे। करन ने उससे कई बार माफी मांगने की कोशिश की लेकिन काजल ने उससे कभी भी बात नहीं की। करन ने एक बार मुझे भी फोन किया था और कहा था कि क्या तुम काजल को समझा सकते हो। मैंने करन से कहा कि मै इस बारे में काजल से बात करूंगा। मैंने इस बारे में काजल से भी बात की लेकिन काजल ने मुझे कहा कि अब तुम करन बात कभी मुझसे मत करना क्योंकि मैं बिल्कुल भी नहीं चाहती कि अब मेरी बात करन के साथ हो। मुझे नहीं पता था कि वह इस प्रकार का लड़का है और वह मुझ पर इतना शक करता है इसीलिए मैंने अब उससे बात करना बिल्कुल बंद कर दिया है। काजल और मेरी दोस्ती पहले से ही अच्छी थी और वह मुझसे हर बात शेयर करती थी। उसने उसके बाद कभी भी करन से बात नहीं की। मैंने एक दिन काजल से कहा कि क्या हम लोग कभी आउटिंग पर जा सकते हैं। वह कहने लगी हां क्यों नहीं हम लोग जरूर जा सकते हैं। काजल ने अपने घर पर कहा कि मैं अपने दोस्तों के साथ बाहर जा रही हू और कल सुबह आऊंगी। मैं काजल को अपने साथ एक अच्छे होटल में ले गया और हम लोग होटल के रेस्टोरेंट में बैठे हुए थे। उस दिन हम लोगों ने साथ में डिनर किया और उसके बाद काफी देर हो चुकी थी। मैंने उस होटल में ही रूम ले लिया हम लोग रूम में बैठे हुए थे और बात कर रहे थे।

काजल उस दिन बहुत सुंदर लग रही थी इसलिए मैंने उसकी जांघों को कसकर पकड़ लिया और दबाना शुरू कर दिया। मुझे बड़ा अच्छा लग रहा था जब मैं उसकी जांघों को दबा रहा था और काजल पूरे मूड में आ रही थी। मैंने काफी देर तक उसकी जांघ को दबाया। मैंने उसके होठों को अपने होठों में लेकर किस करना शुरू कर दिया काफी समय तक मैंने उसके होठों का रसपान किया। उसके बाद मैंने उसके स्तनों को बाहर निकालते हुए जैसे ही अपने मुंह में लिया तो उसकी उत्तेजना बढ़ने लगी और वह पूरे मूड में आ गई। मैंने उसके स्तनों को बहुत अच्छे से चूसा उसके बाद मैंने अपने लंड को बाहर निकालते हुए काजल के मुंह में डाल दिया। मुझे बड़ा अच्छा लग रहा था जब काजल मेरे लंड को मुंह में ले रही थी। उसके बाद मैंने उसके दोनों पैरों को चौड़ा कर दिया। मैंने जैसे ही अपनी जीभ को उसकी योनि के अंदर डाला तो उसका पानी बाहर आ गया। मुझे बहुत अच्छा लग रहा था जब मै उसकी चूत को चाट रहा था तो वह भी पूरे मूड में थी। मैंने अपने लंड को काजल के अंदर डाल दिया जैसे ही मेरा लसकी चूत मे गया तो उसका खून बाहर की तरफ आने लगा और उसे बहुत अच्छा महसूस होने लगा। मैं उसे बड़ी तेजी से चोद रहा था और मुझे भी काफी अच्छा लग रहा था। उसने अपने दोनों पैरों को चौड़ा कर लिया और मै उसे बड़ी तेजी से चोद रहा था। उसकी योनि से खून भी बाहर निकल रहा था और कुछ ही झटकों के बाद हम दोनों एक दूसरे की गर्मी को नहीं झेल पाए और मेरा लंड बुरी तरीके से छिल चुका था। जब उसकी योनि से उसका पानी ज्यादा ही बाहर निकलने लगा तो उसने मुझे कसकर पकड़ लिया और मैंने उसे बड़ी तेज झटके मारे। मैंने उसे 15 मिनट तक बड़े अच्छे से चोदा और उसके बाद मेरा वीर्य काजल की योनि में गिर गया।