फूफा जी का बड़ा लंड दोबारा चूत में लिया

फिर फूफा जी ने अपना लंड बाहर निकाला और नीचे बैठते हुए मुझे अपने लंड पर बैठने को कहा.
मैं फूफा जी की तरफ़ चेहरा करके उनके गले में बाहें डालते हुए उनकी छाती के साथ अपने बूब्स दबा कर उनके लंड पर बैठ गयी; उनका लंड फिर से मेरी चूत में समा गया और वो मुझे अपनी गोद में उठा कर खड़े हो गये और खड़े खड़े ही मुझे अपने लंड पर अपनी दोनों बांहों से उठा उठा कर चोदने लगे.

ऐसे अलग अलग स्टाइल में करीब 15 मिनट तक मुझे चोदने के बाद फूफा जी ने अपनी स्पीड बढ़ा दी और फिर मुझे बैड पर पटक दिया और अपना लंड मेरी चूत में से निकाल कर मेरे मुँह के ऊपर ले आए और फिर उनके लंड से एक जोरदार पिचकारी निकली, जिसने मेरे चेहरे, मेरे बूब्स और मेरे पेट को भी गाड़े वीर्य से भर दिया.

फूफा जी ने अपना सारा लंड मेरे बदन पर निचोड़ दिया और फिर अपने हाथ से मेरे बदन पर रगड़ने लगे जिससे मेरा चेहरा, बाल, बूब्स और पेट गीला हो गया और फिर फूफा जी मेरे ऊपर ही गिर गये.
हम दोनों इस भयंकर चुदाई के बाद थक चुके थे और एक दूसरे की बांहों में लिपट कर सो गये.

दोस्तो, मेरी इस पोर्न कहानी पर आपकी मेल का इंतजार रहेगा आपकी हॉट हॉट सेक्सी कोमल भाबी को!

आपके खड़े और तने हुए लंडों और गीली हुई चूतों को मेरी चूत का बाइ बाइ!

Pages: 1 2 3

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *