घर पर पढ़ने आई सहपाठी की जबरदस्त चुदाई

अब मैं उसके ऊपर आ गया और उसके बूब्स को चूसने लगा. मुझे बहुत मजा आ रहा था. अब प्रियंका भी काफी उत्तेजित हो गयी थी और बार – बार चिल्ला रही थी, “बस अब और नहीं रहा जाता डाल दो और अब फाड़ डालो मेरी चूत को”.

अब हम दोनों 69 की पोजीशन में आ गए. वो मेरा लंड मुंह में लेकर चूसने लगी और मैं उसकी चूत की कलियों को जीभ से छेड़ने लगा. वो एकदम उत्तेजित थी और मुंह से ‘आह उह्ह आह’ की आवाजें निकालने लगी थी.

मैं पांच मिनट तक उसकी चूत को चाटता रहा. फिर उसकी चूत से पानी निकलने लगा. जिसे मैं सारा का सारा पी गया. वो बहुत नमकीन था. अब उससे रहा नहीं जा रहा था तो वो मुझसे लन्ड डालने के लिए कहने लगी.

अब मैं उसके ऊपर आ गया और अपना लंड उसकी चूत पर लगाया और धक्का दे दिया. जिससे मेरा लंड फिसल गया. फिर मैंने उसकी चूत पर क्रीम लगाई और एक बार फिर से धक्का लगाया, जिससे मेरा आधा लंड उसकी चूत में चला गया. जिससे वो चिल्लाने लगी.

अब उसकी चूत से खून निकलने लगा था और उसकी आखों में से आँसू निकलने लगे थे. वो दर्द से कराह रही थी और मुझे बाहर निकालने को कहने लगी. फिर मैंने उसे समझाया कि पहली बार में थोडा दर्द होता है, थोड़ी देर में तुम्हें भी मजा आएगा.

अब मैं उसके एक बूब्स को चूसने लगा और दूसरे बूब्स को दबाने लगा. कुछ देर बाद जब उसका दर्द कम हुआ तो मैंने एक और झटका मारा. जिससे मेरा पूरा लंड उसकी चूत में चला गया. अब उसकी आखों से आँसू निकल रहे थेे तो मैं उसके होंठों को चूमने लगा और जब उसका दर्द कम हुआ तो मैं लंड को धीरे – धीरे आगे – पीछे करने लगा.

अब वो मेरा साथ देने लगी. उसे भी मजा आ रहा था और उसके मुंह से कामुक आवाजें निकल रही थी. वो ‘आह उह आह उह्ह’ कर रही थी. अब वो जोर – जोर से चिल्लाने लगी थी और कह रही थी, ‘चोद डालो मुझे, फाड़ डालो मेरी चूत को’. अब मैं जोर – जोर से लंड आगे – पीछे करने लगा. उसे मजा भी आ रहा था.

मैं दस मिनट तक उसे चोदता रहा. इस बीच वो दो बार झड़ चुकी थी. अब मैं झडने वाला था तो मैंने उससे कहा कि मैं आने वाला हूँ तो उसने कहा कि अंदर ही निकाल दो. अब मैंने जोर – जोर से लंड को आगे – पीछे करना शुरू कर दिया और उसकी चूत में ही सारा माल निकाल दिया.

इसके बाद हम कुछ देर यूं ही नंगे ही लेटे रहे. फिर हमने बाथरूम में जाकर अपने जननांग साफ किये. वहां से निकल कर हम फिर कुछ देर तक एक – दूसरे के अंगो से खेलते रहे. इसके बाद हमने कपड़े पहने और एक – दूसरे को चूमने लगे. कुछ देर बाद प्रियंका अपने घर चली गयी.

उस दिन मैं बहुत खुश था. इसके बाद हमें जब भी मौका मिलता हम चुदाई जरूर करते थे. इसके बाद मैंने उसकी बहन को कैसे चोदा ये मैं आपको अगली कहानी में बताऊंगा.

आपको मेरी कहानी कैसे लगी? आप अपने विचार मुझे विचार जरूर मेल करें. मेरी मेल आईडी