गोवा का स्ट्रिप क्लब और मेरी कामुकता-1

मैंने अब फिर से अपना लंड उसको चूसने को दे दिया | उसने 2 मिनट में चूसकर मेरा लंड खड़ा कर दिया | मैंने अब उसको लिटाया और उसकी चूत को सहलाने लगा | वो सिसकियाँ ले रही थी | चूत को सहलाते सहलाते मैंने अचानक से उसकी गांड में ऊँगली डाल दी | वो उछल पड़ी | उसकी गांड काफी कसी थी और मेरी ऊँगली बड़ी मुश्किल से गयी | मैंने ऊँगली उसकी गांड में अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया | वो जोर जोइ से अआः ह ह ह हह ह हह ह ह ह हह ह ह ह ह हह ह ह हह ह ह ह हह ह ह ह ऊ उ ऊ उ ऊ ऊ उ ऊउह ह ह हह ह ह हह ह ह ह ह हह ह ह हह ह ह ह हह ह ह ह हह ह हह ह ह्ह्ह ह ह हह ह ह ह हह ह ह ह ह हह ह ह ह हह ह ह ह हह ह ह ह हह ह ह ह ह्ह्ह ह हह हह हह ह ह हह ह ऊ उ ऊऊ उ उ ऊ ऊ ऊ ऊऊउ उ ऊऊ ऊऊ उ ऊ उ उ ऊ उ ऊ उ इ इ ई ई इ इ ईई इ ई ईईइ इ इ ईई इ ई ई इ इ इ इ इ ई इ इ ई इ ई ई ई ई ईई इ इ ई इ ई ई ई इ ई ई इ इ ई इ इ इ ई ई इ इ इ इ इ इ इ ई इ ई इ ईई इ ई इ ई इ ई इ करने लगी |

मेरा लंड तो पहले से ही खडा था लेकिन उसकी ऐसी मादक सिसकियाँ सुन के और कडक हो गया | अब मैं उठा और उसकी गांड पर थोडा सा थूक लगा के उसकी गांड के निचे तकिया लगाया और लंड अन्दर डालने की कोशिश करने लगा | उसकी गांड शायद कभी चुदी नही होगी क्यूंकि मेरा लंड हल्का सा भी नही घुस रहा था | मैंने अब लंड हटा कर उसकी गांड में फिर से ऊँगली डाली और अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया ताकि उसकी गांड में थोड़ी जगह बन जाये | जब उसकी गांड में थोड़ी सी जगह बन गयी तो मैंने अपना लंड फिर से टिकाया और जोर का धक्का दिया | मेरे इतने जोर के धक्के के बावजूद सिर्फ मेरे लंड का टोपा ही घुसा | वो अब रोने लगी थी और जोर जोर से ऊऊ ऊ उ उ ऊ इ इ इ ई इ इ इ ई इ इ इ ई इ इ इ इ ई इ इ इ ई इ ई इ इ इ ई इ इ ई इ इ इ इ ई इ इ ई इ इ इ इ इ ई इ ई इ ई इ ई इ इ इ ई इ इ इ ई इ इ इ इ ई इ ई इ इ ई इ इ इ ई इ ई इ इ ई इ ईईईईईइ आःह ह हह हह ह ह ह ह हह ह्ह्ह ह हह ह ह हह ह हह ह ह हह ह करने लगी |

मैं थोड़ी देर रुका और फिर मैंने एक और जोर का धक्का दिया | इस बार मेरा लंड आधा घुस गया | उसकी आँखों से अब सच में आंसूं आ गये थे | दोस्तों उसकी गांड इतनी कसी थी की मेरे लंड में भी दर्द होने लगा | मैंने सोचा की अगर मैंने लंड निकाल लिया तो क्या पता दोबारा घुसे या न घुसे | मैंने निकाला नही और उसके चूतड़ों पर थप्पड़ मारना शुरू कर दिया ताकि उसकी गांड थोड़ी ढीली हो | मेरे थप्पड़ों से उसके चुतड लाल हो गये थे | आख़िरकार मेरी कोशिश कामयाब हुई और उसकी गांड थोड़ी से ढीली हो गयी | अब मैंने फिर से एक जोर का धक्का दिया और इस बार मेरा पूरा लंड उसकी गांड के अन्दर था | मैंने अब बिना देर लगाये उसकी गांड को चोदना शुरू कर दिया | वो जोर जोर से आआआ ह ह ह हह ह हह ह ह हह ह ह ह हह ह ह हह हह ह हह ह ह ह हह ह ह ह हह हह ह उ ऊऊ ऊ उ ऊ उ उ ऊऊउ उ ऊ उ उ ई ईई इ ई ई इ ई इ इ ई इ इ ई इ इ ई इ इ ईई ईई ईई ई ईई ई ईई ई ई ईई ईईई इ ई ई इ इ इ इ इ ई इ इ इ इ इ इ इ ई इ इ कर रही थी |

लगभग आधे घंटे को जोरदार चुदाई के बाद मैं झड गया और मैंने उसकी गांड में ही सारा माला छोड़ दिया | उसकी गांड से खून आ रहा था और ये जब मैंने लंड निकाला तब देखा | खैर, हम दोनों ने उस रात कई बार चुदाई की | दोस्तों, ये थी मेरी कहानी |