आंटी XXX मूवी देखती थी मोबाइल में, मैंने पटा लिया और खूब चोदा

मैंने अपने लंड को एक हाथ से पकड़ा और आंटी की गांड को दुसरे हाथ से. आंटी चूत का सेंटर मिला के मेरे लंड के ऊपर बैठ गई. मैंने निचे से धक्का दिया और आंटी ने चूत में लंड को डलवा के अपने मसल को टाईट कर लिए. अब वो अपने बूब्स को हिलाते हुए चुदने लगी. और उसने लंड के ऊपर अपनी भोस से टाईट ग्रिप बना ली थी जिस से मेरे लंड को जकड़ लिया था उसने. मैं उसके बूब्स को मसल रहा था और आंटी को धक्के दे रहा था.

कुछ ही देर में आंटी की भोस के अंदर ही मेरा पानी छुट गया.

आंटी ने भी पिचकारी को महसूस किया और चूत को और जकड़ लिया. फिर मैंने हौले से उसके बूब्स पकड के दो झटके और दिए. आंटी की चूत की गहराइ में ही मेरा पानी छूटा था. आंटी जब उठी तो उसके छेद से मेरा वीर्य टपक रहा था. वो मेरे पास ही लेट गई और बोली, बहुत दिनों के बाद किसी असली लंड से चूदी हूँ मैं!

मैंने कहा, अंकल के आने तक एक राउंड और हो जाएगा!

वो बोली, क्यूँ नहीं मेरे राजा, लेकिन थोडा सुस्ता लो पहले.

पांच मिनिट के बाद जरीना आंटी ने मेरे लंड को फिर से चूस के कडक कर दिया. और फिर वो चुदने के लिए वापस घोड़ी बन गई. अब की तो मैंने आंटी की चूत के साथ साथ उसकी गांड भी मार ही ली. आंटी को बड़ा मजा आ गया. लेकिन फिर अंकल के आने से पहले निकलना भी था मुझे. जल्दबाजी में मैंने कंडोम का भी यूज नहीं कीया था वो मुझे पेंट पहनते वक्त पता चला. साली चूत ने कितना दिमाग खराब कर दिया था. आंटी को मैंने कहा, अगली बार आप को लम्बी क्सक्सक्स मूवी दिखा के चोदुंगा आंटी!