किराएदार को गर्लफ्रेंड बनाकर पेला

फिर उसने अपने दोनों पैरों से मेरी कमर को पूरी तरह से जकड़ लिया और एक ज़ोर के झटके के साथ वो झड़ गई और मेरे होंठों पर अपने होंठों रख कर किस करने लगी. मेरा लंड भी अब आखिरी स्टेज पर आ चुका था और मैं ज़ोर – ज़ोर से झटके मारने लगा था. फिर थोड़ी ही देर में मैं उसकी चूत में ही झड़ गया.

उसकी चूत मेरे वीर्य से भर गई. फिर मैं करीब 2 मिनट तक तो ऐसे ही उसके ऊपर लेटा रहा और फिर उसके बगल में आकर लेट गया. अब वो मेरे कंधे पर सर रखकर लेट गई.

उसका नंगा मुलायम बदन सच में बहुत खूबसूरत लग रहा था. फिर मैंने रात में ही एक बार फिर उसकी चुदाई की और सुबह 5 बजे जब हल्की रोशनी होने लगी, तब हम
लोग नीचे उतर आए. जब नीचे गये तब तक सीमा जग चुकी थी. हम दोनों को साथ में देखकर वो हसंते हुए बोली, “लगता है आप लोग रात भर आप लोग सोये नहीं हैं!”

शिल्पा उसकी बात सुनकर हंसकर रूम के अंदर चली गई और फिर मैं भी नीचे अपने रूम में चला आया.

कहानी से संबंधित आपके सुझाव और विचारो का स्वागत है. आप मुझे अपने सुझाव और विचार मुझे मेल करके भेज सकते हैं. मेरी मेल आईडी –