मैं बन गया कुत्ता!

मैं बन गया कुत्ता…देखो बन गया कुत्ता ….बांध इशक का पट्टा…..देखो बन गया कुत्ता…. ये गाना तो आपने जरूर सुना होगा. लेकिन ये गाना मेरी असल जिन्दगी में भी चरितार्थ हो रहा था. मेरी गर्लफ्रेंड की ये फैंटसी पूरा करना मुझे सच में काफी आनन्द दायक लगा. बिलकुल अलग तरह का सेक्स एन्जॉय किया था मैंने…..

हेलो दोस्तों! मेरा नाम है राहुल है. मेरी उम्र 21 वर्ष की है. मेरी कद काठी काफी अच्छी है. मैं अपनी पहली कहानी लिखने जा रहा हूँ. जिस किसी को भी अच्छी लगे वो मुझे मुझे मेल करके बता सकते हैं.

अब मैं अपनी कहानी पे आता हूँ.

मेरी एक गर्लफ्रेंड है, जिसका नाम रिया है. उसकी उम्र 20 वर्ष है. वो मस्त गोरी माल है और उसका फिगर 32-28-30 है. अक्सर हम जब भी मिलते हैं तो स्मूच वगैरह करते हैं. मैंने तो उसके बूब्स को दबाया और चूसा भी है. लेकिन इससे ज्यादा करने का मौका नही मिल पाया है. कभी हमारे पास जगह ही नहीं हो पाती है.

लेकिन फोन सेक्स के दौरान हमलोग सब किया करते थे. वो कहती थी की मैं तुम्हारे साथ सेक्स तभी करूंगी जब तुम सबकुछ मेरे हिसाब से करोगे.

मेने भी बोला – हाँ जान! जैसा तुम बोलोगी, वैसा ही होगा.

फिर एक दिन वो मौका भी आ गया जिसका हम बेसब्री से इन्तजार कर रहे थे. मेरे कुछ दोस्त हॉस्टल में न रहकर एक फ्लैट किराए पे लेकर रहते थे. छुट्टियों में वो अपने घर जा रहे थे तो मैंने उनसे फ्लैट की चाबी ले ली. रिया को भी मैंने अगले दिन मिलने के लिए बोल दिया. उसने कहा की मैं ट्यूशन से बंक मार के आ जाएगी लेकिन 6 बजे तक वापिस घर आ जाएगी. हमारा प्लान बना कि हम 1 बजे मिलेंगे.

अगले दिन मैंने पूरे बदन पे फुल डियो मारा और निकल पड़ा. रास्ते से कॉन्डोम का 3 पीस पैकेट खरीदा. साथ ही मैंने चिप्स के पैकेट और कोल्ड ड्रिंक भी ले ली. ठीक 1 बजे मैंने रिया को उसके घर से थोड़ी दूर पे पिक किया और फ्लैट पे गए. वहाँ पहुँचने पे हमने रूम का AC चालू किया. रिया चिप्स खाने लगी और मैंने एक सिगरेट सुलगा ली. लेकिन रिया ने सिगरेट पीने से मन किया तो मैं मान गया.

कुछ देर बाद मैंने उसके कंधे पे हाथ रखा और धीरे से उसके समीप आ गया. वो मेरा इशारा समझ चुकी थी. उसने भी चिप्स का पैकेट साइड में रख दिया और फिर हम दोनों स्मूच करने लगे. हम दोनों के होठ करीब 5 मिनट तक एक दुसरे के अधरों का रसपान करते रहे. रिया की कमजोरी थी कि जब भी उसके गर्दन पे किस करो तो वो पागल हो जाती थी. मैंने रिया के गर्दन पे किस किया और फिर उसके कानों को. मेरा एक हाथ उसके बूब्स दबा रहा था.

रिया ने कहा – धीरे दबाओ न प्लीज!!

फिर मैं उसका टॉप उतारने लगा तो उसने रोक दिया और बोली – ऐसे नहीं! मैंने कहा था न सब कुछ मेरे हिसाब से होगा.

मैंने बोला- हाँ जान बताओ न कैसे?

पहले तो वो शर्मा रही थी फिर बोली – मैं चाहती हूँ की तुम मेरे कुत्ते की तरह बन जाओ. मैं जैसा बोलूं, वैसा ही करो. मेरी किसी भी बात का बुरा मत मानना. ये सिर्फ थोड़ी देर तक के लिए ही है.

फिर मैंने कहा- फिर सेक्स करते वक़्त मैं भी गाली बक सकता हूँ?

उसने कहा- क्यों नहीं जानेमन.

मैं भी ख़ुशी- ख़ुशी मान गया. मुझे भी ये कुछ नए टाइप का लग रहा था. मैंने सोचा आज तो बहुत मजा आने वाला है. फिर मैंने वापिस से उसे स्मूच करना चालू कर दिया और साथ ही साथ उसके बूब्स को भी दबाने लगा. उसने कहा – चल अब अपने कपड़े उतार!

मैंने भी उसके कहे मुताबिक जल्दी-जल्दी अपने सारे कपड़े उतार दिए. मेरा लंड पूरा खड़ा था. ये देखकर रिया चौंकी और बोली- मैंने तो अभी अपने कपड़े उतारे ही नहीं और ये अभी से खड़ा हो गया. है.

फिर उसने बोला- चल अब मेरे पैर चाट.

मैंने बोला – सच में?

उसने मुझे थप्पड़ मारा और बोली- चाट माधरचोद!

मैं उसके पैर चाटने लगा. उसे बहुत मजा आ रहा था. वो बोले जा रही थी “ चाट ! और अच्छे से चाट”. फिर उसने कहा- अब मेरा टॉप उतार कर मेरे मम्मे चूस डाल.

मैं उसका टॉप और ब्रा उतार कर उसके मम्मे चूसने लगा. मुझे और उसे भी बूब्स की ये चुसी खूब अच्छी लग रही थी. वो बोले जा रही थी “ चूस और चूस, खा जा इन्हें”…कुछ देर बाद वो शांत हो गयी और मारते हुए बोली- गांडू! सिर्फ दूध ही पीता रहेगा या चोदेगा भी?

मेने बोला- रंडी! तुझे पटक- पटक के चोदूंगा आज.

फिर मैने उसकी नाभि पे किस किया और फिर उसके सपाट पेट पे अपनी जीभ फिराने लगा. रिया तो जैसे पागल हुए जा रही थी. मैंने लगभग उसकी पूरी बॉडी पे किस किया. लेकिन जब मैंने उसकी जीन्स में हाथ डालने की कोशिश की तो उसने मन करते हुए कहा – अभी नहीं. अभी मुझे तेरा लंड चूसना है.

और उसने मेरा लंड पकड़कर चूसना शुरू किया. कसम से! क्या मजा आ रहा था? फिर 5 मिनट तक मेरा लंड चूसने के बाद मैंने उससे पूछा- अब उतार दूं तेरी जीन्स?

वो बोली- उतार- उतार.

मैं जीन्स के साथ ही उसकी पैंटी भी उतार रहा था. उसने मुझे फिर से मारा और बोली – भोसड़ी के सीधा चूत? पहले मेरी चिकनी जांघें तो चाट.

Pages: 1 2

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *