मेरी बुआ की चुदास

फिर मैंने उनकी कुर्ती में हाथ डाल दिया और चूचों को और जोर से मसलने लगा. अब तक बुआ पूरी तरह गरम हो चुकी थी. फिर उन्‍होंने मेरा लंड पकडा और मुंह में ले लिया. वो घुटनों पर बैठ के मेरे लंड को पूरा अंदर तक लेने की कोशिश कर रही थी…

हेलो दोस्तों, मेरा नाम उमेश है और मैं पुणे का रहने वाला हूँ. मेरी उमर 17 साल है और हाईट करीब 6 फुट है. चूंकि मैं रोजाना जिम जाता हूँ तो बॉडी भी हेल्दी है. मेरा लंड करीब साढ़े 6 इंच लंबा और 4 इंच मोटा है.

आप लोगों का ज्यादा वक्त न बर्बाद करते हुए अब मैं सीधा अपनी कहानी पर आता हूँ. ये कहानी मेरी और मेरी बुआ की है. मेरी बुआ का फिगर 36-30-38 है और उनकी उम्र करीब 39 साल है. वो अक्‍सर मेरे घर आया करती थीं. मेरी उन पर कभी गंदी नजर नहीं थी, लेकिन एक बार जब मेरी गर्मी की मेरी छुट्टियां चल रही थीं और मैं घर पर ही रहता था.

उस दौरान अचानक एक दिन बुआ मेरे घर आ गईं. उन्हें देख मैं बहुत खुश हुआ. उन्‍होंने लाल रंग का सूट पहन रखा था और वह बहुत टाइट था. उनके उस टाइट सूट से उनके चूचे बाहर आने को तड़प रहे थे.

उनकी बड़ी गांड के बारे में तो अब क्या ही बताऊं दोस्‍तों! उसे देख के तो मैं पागल सा हो गया था. क्‍या गांड थी! बहुत मोटी. और जब वह चलती तब उनके बूब्स और गांड लगातार ऊपर – नीचे उछलते रहते. मेरा तो उन्हें देख के ही लंड खडा हो गया था.

अगले दिन बुआ मेरे कमरे में सफाई करने आईं, लेकिन उस समय मैं सो रहा था. दोस्तों, मैं अक्‍सर अंडर विअर या शॉर्ट में ही सोता हूँ. जैसे ही बुआ मेरे कमरे में आईं वैसे ही मेरी नींद खुल गई, लेकिन मैं सोने का नाटक करता हुआ पड़ा रहा.

मैंने देखा कि बुआ झुक कर कमरे में झाडू लगा रही थी. उनके झुकने के कारण उनके गोरे – गोरे और बड़े – बड़े चूचे मुझे साफ दिख रहे थे. बुआ के चूचे उनकी कुर्ती में झुल से रहे थे. ये देख कर मेरा लंड खड़ा हो गया. मैं तो चाह कर भी कुछ नहीं कर सकता था.

तभी अचानक बुआ की नजर मेरे खड़े लंड पर पडी. वो मेरे और करीब आईं और मेरे लंड को सहलाने लगीं. सहलाने के साथ – साथ वो सिसक भी रही थीं. अब मेरे अंदर तो मानो लड्डू फूट रहे थे. मेरा मन उनको पटक कर चोदने को किया, लेकिन जैसे ही मैंने हल्की सी हरकत की, बुआ घबरा गईं और फिर कमरे से चली गईं.

मैं समझ गया था कि वो चुदने को बेताब हैं. शाम हुई तो मैं बुआ को ढूंढने लगा. वो बालकनी में खड़ी थीं और उनकी पीठ मेरी तरफ थी. पीछे से उनकी मोटी गांड को देख के मैं पागल सा हो गया. क्‍या मोटी गांड थी! कोई भी उनके फिगर को देख ले तो मुठ जरूर मार देगा.

मेरा भी लंड खडा हो गया था और फिर मैं उनकी ओर पीछे से बढ़ा और चौकाने के लिए उनके कंधे पर हाथ रख दिया. जैसे ही वो डर कर पीछे हुई तो उनकी गांड मेरे लंड से टकरा गई. मेरे लोहे जैसे लंड से टकराकर उनके मुंह से एक हल्की सी चीख निकल गई. लेकिन मैं खुश हो गया.

फिर वो बिना कुछ बोले अपने रूम में चली गईं. अगली शाम घर में बुआ और सिर्फ मैं ही था. घर के बाकी लोग किसी काम से बाहर गए हुए थे. मैं बुआ के बारे में सोच कर मुठ मारने बाथरूम गया, लेकिन दरवाजा बंद करना भूल गया.

तभी बुआ अचानक बाथरूम में आ गईं और मुझे मुठ मारते देख वो हैरान होकर वहीं खड़ी हो गईं. बुआ को देख मैंने तुरन्त ही अपना लंड जीन्‍स के अंदर डाल दिया और बुआ से कहा, “सॉरी बुआ, अब आईंदा ऐसा नहीं होगा लेकिन प्‍लीज, आप किसी को बताना मत. आप जो बोलोगी मैं करने को तैयार हूँ.”

फिर बुआ ने कहा, “जैसे मैं कहूंगी तुम करोगे?” मैंने हाँ कर दी. यह सुनते ही बुआ ने बाथरूम का दरवाजा बंद कर दिया और मुझसे जीन्स उतारने को कहा. इस पर मुझे बहुत शर्म आयी और मैंने कहा बुआ मैं ऐसे नहीं कर सकता. तो बुआ ने कहा, “उतारो वरना मैं सबको बता दूंगी.”

अब मैंने अपनी जीन्‍स उतार दी. फिर बुआ मेरे पास आईं और मेरी अंडर विअर पर हाथ फेरने लगी. मैंने कहा, “बुआ नहीं, ये क्‍या कर रहे हो आप.” वो कुछ नहीं बोलीं और फिर उन्‍होंने मुझे किस करना शुरू कर दिया. अब मेरा भी मूड बनना शुरू हो गया और धीरे – धीरे लंड भी खडा हो गया.

बुआ मुझे लगातार किस कर रही थी. उनकी जीभ मेरी जीभ से टकरा रही थी. किस करते – करते मैंने उनके बाल पकड़ लिये और उनके होंठों का रस चूसने लगा. उन्हें बहुत अच्छा लग रहा था. किस करने के साथ – साथ वो मेरे लंड को भी सहला रही थीं.

फिर बुआ अपने मुंह से मेरी शर्ट के बटन खोलने लगीं. उनकी गरम सासें मुझे और गरम कर रही थीं. बटन खोलने के दौरान उनके होंठ मेरी छाती को छू रहे थे. अब मैंने भी उनके चूचे पकड़ लिए और मसलने लगा. इतने बड़े और मुलायम चूचे मेरे हाथ में नहीं समा रहे थे. मैं लगातार बुआ के गोरे – गोरे चूचों को मसल रहा था. अब वो सिसकियां लेने लगी थीं.

फिर मैंने उनकी कुर्ती में हाथ डाल दिया और चूचों को और जोर से मसलने लगा. अब तक बुआ पूरी तरह गरम हो चुकी थी. फिर उन्‍होंने मेरा लंड पकडा और मुंह में ले लिया. वो घुटनों पर बैठ के मेरे लंड को पूरा अंदर तक लेने की कोशिश कर रही थी.

Pages: 1 2

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *