मेरी नई पड़ोसन और मेरी पहली चुदाई

उनके होंठ बहुत रसीले थे. करीब 15 मिनट के बाद जब हम अलग हुए तो वो बोली, “आज मुझे पूरा सुख दे दो.” तो मैं वापस उनसे चिपक गया और उनके ब्लाऊज़ के ऊपर से मम्मे दबाने लगा. फिर उन्होंने धीरे – धीरे करके अपनी साड़ी खोल दी.

अब वो मेरे सामने सिर्फ ब्लाऊज़ और पेटीकोट में थी. फिर उन्होंने मेरी चैन खोल कर मेरे लण्ड को पकड़ लिया और बोली कि आपका तो बहुत बड़ा है जबकि आपके भैया का तो केवल 5 इंच का ही है. फिर उन्होंने मुझे नंगा कर दिया और मेरे साढ़े 6 इंच के लन्ड को देखा. उसको देख कर उनकी आँखों में चमक आ गयी. फिर वो उसको चूसने लगी.

अब मैंने भी उनके सारे कपड़े खोल दिए और उनकी ब्रा और पैंटी भी खोल दी. उनकी चूत पर एक भी बाल नहीं था. शायद उन्होंने आज ही साफ किये थे. अब मैं उनके बूब्स को चूसने लगा. इतने अच्छा लग रहा था कि पूछो ही मत. अब मैं सेक्सी वीडियो में जैसा करते हैं वैसे ही करने लगा.

अब मैंने उनकी नाभि को चूसा और उसके बाद उनकी जांघ सहलाई और उनके कान के आस – पास गर्दन पर किस करने लगा. अब उन्होंने बोला कि मेरी प्यास बुझा दो. फिर मैंने कहा कि अभी रुको न, इतनी भी क्या जल्दी है. वैसे भी मैंने आज तक सेक्स नहीं किया है. यह सुन कर वो बोली चिंता न करो मैं सिखा दूंगी.

अब मैं उनकी चूत चाटने लगा और उसके बाद हम 69 की पोजीशन में आये. अब मैं उनकी चूत चाटने लगा और वो मेरे लन्ड को चूसने लगी. इसी बीच एक बार मेरा पानी निकल गया. उनका भी पानी दो बार निकल चुका था. अब वो मेरा सर अपनी चूत में दबाने लगी और बोली, “यार, अब तो डाल ही दो, अब बिलकुल रुका नहीं जाता.”

अब मैंने उनकी चूत पर लण्ड रख कर अंदर डालने की कोशिश की लेकिन मेरा लन्ड अंदर नहीं गया. फिर उन्होंने लन्ड को पकड़ा और बोली अब जोर लगाओ. फिर मैंने धक्का लगाया तो मुझे हल्का सा दर्द हुआ और मेरा लन्ड अंदर चला गया. उनकी चूत काफी टाइट थी. अब मुझे भी मजा आने लगा और वो भी मजे लेने लगी.

करीब 10 मिनट की चुदाई के दरम्यान वो 3 बार झड़ चुकी थी और अब मैं भी आने वाला था तो मैंने पूछा कि कहां निकालूं? तो वो बोली कि अंदर ही डाल दो, आज बुझा दो मेरी प्यास. अब मैंने 8 – 9 शॉट मारे और उनके अंदर ही आ गया.

अब उन्होंने मुझे जोरदार तरीके से पकड़ कर खुद से चिपका लिया और मेरे होंठों पर किस करने लगी. फिर उन्होंने कहा कि आज तक तुम्हारे भैया ने इतना मजा मुझे कभी नहीं दिया. फिर इतना कह कर वो मुझसे और चिपक गयी. उस रात हमने 3 बार और सेक्स किया और सुबह मैं वापस अपने घर आ गया.

इसके बाद जब भी हमें टाइम मिलता था हम सेक्स जरूर करते थे. हमने पूरे एक साल तक सेक्स किया. बाद में फिर भैया का ट्रांसफर हो गया और वो लोग चले गए. अब तो बस कभी – कभी फ़ोन पर ही हमारी बात होती है. लेकिन अब जब भी मुझे टाइम मिलेगा मैं उनके पास जरूर जाऊंगा.

बाद में उनके बच्चा हुआ. वो मेरा ही लड़का था. वो बहुत खुश हुई और उसका नाम भी उन्होंने मेरे नाम पर राज ही रख दिया.

इस कहानी में अगर मुझसे कोई गलती हुई हो तो माफ़ करना और आपको मेरी यह कहानी कैसी लगी, मुझे मेल करके जरूर बताना. मेरी मेल आईडी –