मोबाइल की दुकान होने का फायदा मिला

दोस्तों, मेरा नाम विवेक है और मैं उत्तर प्रदेश के एक कस्बे का रहने वाला हूँ | मेरी हाइट 5 फुट और 5 इंच है और बॉडी फिट है क्यूँकी मैं रोज जिम करता हूँ | मैं Free Hindi Sex Stories का रेगुलर पाठक हूँ और यहाँ अक्सर चुदाई की कहानियां पढ़ कर मुठ मारता हूँ | मेरी उम्र 22 साल है | चलिए दोस्तों, अब मैं कहानी पर आता हूँ |

हुआ ये की बी. ए. करने के बाद मुझे समझ में नही आ रहा था की क्या करू | मुझे मेरे एक दोस्त ने सुझाव दिया की एक मोबाइल की दुकान खोल लूं मैं, यहाँ काफी बिकेगा | मुझे ये आईडिया सही लगा | मैंने वही किया | मैंने एक दुकान खोली और नाम रखा विवेक मोबाइल स्टोर | दुकान चल निकली और ग्राहक आने लगे | उन्ही दिनों की बात है एक दिन मेरी दुकान पर एक लगभग 25 साल की उम्र की औरत आई और उसने मोबाइल दिखाने को बोला | मैंने उसको कई मोबाइल दिखाए | वो पैसे तो सस्ते वाले मोबाइल भर के लेके आई थी लेकिन उसे पसंद महंगा वाला आया | मैंने उससे पूछा की वो कहाँ रहती है | उसने बताया की वो पास वाले गाँव की रहने वाली है और अभी कुछ महीने पहले ही उसकी शादी हुई है | उसका पति दिल्ली में काम करता है | जब उसने काफी कुछ बता दिया तो मुझे विश्वास हो गया की वो सच बोल रही है | मैंने उससे बोला की कोई नही, थोड़े दिन में दे देना |

loading…

वो खुश हो गयी | बोली बहुत बहुत शुक्रिया, मैं आपको थोड़े ही दिनों में दोबारा आउंगी तो पैसे दे दूंगी बाकी के | मैंने उसको एक सिम भी दिया और उस सिम का नंबर नोट कर लिया | थोड़े दिन बाद मैंने उसको कॉल किया तो वो बोली की पैसे तो हैं उसके पास लेकिन आने का टाइम नही मिल पा रहा बस | मैंने उससे बोला की जल्दी करो | वो बोली ठीक है | कुछ दिनों के बाद मैं किसी काम से उस गाँव में गया था | मुझे याद आया तो मैंने उसको कॉल किया | वो बोली ठीक है, आप आ जाओ | मैं गया उसके घर | उसका घर गाँव के थोडा सा बाहर था और ये मेरे लिए अच्छी बात थी की कोई देखेगा नही | मैंने उससे बात करनी शुरू कर दी | वो बताने लगी की उसका पति आया हुआ था शहर से इसीलिए वो मेरी दुकान पर आ नही पायी | उसका पति कल ही वापस गया था |

मैंने बोला कोई बात नही | मैंने उससे नज़रें मिलाना शुरू किया | उसने भी लाइन देनी शुरू कर दी | मैंने सोचा की मौका है, अगर गँवा दिया तो पछताऊंगा | मैंने उससे पैसों का बोला | वो लेने चली गयी और जब आई तो गिनने पर 200 रूपये कम थे | वो मायूस हो गयी | मैंने उससे मजाक के अंदाज में बोला की कुछ और अगर देदो तो ये पैसे बाकी लगाने की जरुररत नही पड़ेगी | वो बोली क्या ? मैंने बोला वैसे तो बहुत कुछ लेकिन फ़िलहाल चुम्मी से काम चला लूँगा | मैंने ये कह कर आँख मार दी | वो मुस्कुरा दी | मैंने दरवाजा बंद कर दिया | उसने भी दरवाजा बंद करते टाइम मना नही किया | मैं समझ गया की वो तैयार है | मैंने उसको बाँहों में लिया और दीवार के सहारे टिका कर चूमना शुरू कर दिया | वो पहले तो थोडा हिचकिचाई लेकिन फिर वो भी खुल गयी | मैंने अब उसको और जोश दिलाने के लिए उसकी गर्दन पर किस करना शुरू कर दिया | अब उसको भी जोश चढ़ने लगा | वो हलके हलके से आह्ह ह हह ह हह ह हह ह हह ह ह्ह्ह ह ह्ह्ह हह उम् मम म मम म मम म मम्म मम्म मम म म मम म म मम म म म की सिसकियाँ लेने लगी |

अब मैंने उसको लिटा दिया और उसके ऊपर आ गया | अब मैं फिर से उसको किस करने लगा | वो सिसकियाँ ले रही थी | मैंने किस करते करते अपने हाथों से उसके बूब्स दबाने शुरू कर दिए | वो मना करने लगी | मैंने उसकी और जोर से किस करना शुरू कर दिया और उसके बूब्स भी सहलाने लगा | अब उसने मना करना बंद कर दिया | मैंने उसके बूब्स और जोर से दबाने शुरू कर दिए | वो अब और जोर से सिसकियाँ लेने लगी | मैंने अब उसके ब्लाउज के हुक खोल दिए | मैं उसके ब्रा के ऊपर से ही उसके दूध को मसलने लगा तो उसके मुंह से आःह्ह्ह हह ह हह ह्ह्ह हह ह ह्ह्ह ह ह ह अह्ह्ह ह्ह्ह्ह ह्ह अह्ह्ह ह्ह्ह्हह्ह उम्म्म म्म्म्म उम्म्म म्म्म्म उम्म्म म्म्म्म की सिस्कारियां निकलने लगी | फिर मैंने ब्रा को भी अपने हाँथ से निकाल कर उसके दूध को अपने मुंह में ले कर चूसने लगा बारी बारी से तो वो आःह्ह्ह अह्ह्ह ह्ह्ह्हह्ह अह्ह्ह ह्ह्ह्हह्ह उम्म्म म्म्म्म उम्म्मम्म्म्म उम्म्मम्म्म्म करते हुए कसमसाने लगी | मैं जोर जोर से उसके दूध को दबा दबा कर चूस रहा था और वो आःह्ह्ह अह्ह्हह्ह्ह्हह्ह अह्ह्हह्ह्ह्हह्ह उम्म्मम्म्म्म उम्म्मम्म्म्म उम्म्म मम्म मम्म म मम्म म म्मम्म म्म्म्म करते हुए मेरे सिर को सहला रही थी | मैंने अब उसकी साड़ी उतारनी शुरू कर दी | वो मेरे हाथ रोकने लगी लेकिन मैंने फिर वही किस वाला मेथड अपनाया और वो काम कर गया | अब उसने मना करना बंद कर दिया | फिर मैंने अपने पूरे कपडे उतार दिया और उसके सामने ही नंगा हो गया |