मम्मी बोली रोहित मैं तुमसे चुदना चाहती थी

हेलो दोस्तों, मैं अपना पहला एक्सपीरियंस आप लोगों के साथ शेयर कर रहा हूं. मेरा नाम रोहित है और मेरी उम्र २३ साल है और मैं भोपाल में रहता हूं. मेरी फैमिली में मैं, मम्मी पापा और एक बहन है, पापा का बिजनेस है तो वह ज्यादा आउट ऑफ टाउन रहते हैं. मेरी मां का नाम शिवानी है और फिगर साइज़ ३६-३०-३६ है. और कलर गोरा है. मां की उम्र ३७ साल है. यह स्टोरी तब की हे जब मैं १2वीं में पढ़ता था. घर पर सिर्फ में, माँ और दी ही रहते थे.

में तो पोर्न और सेक्स का बहुत ही ज्यादा दीवाना था. मॉम सन भाई बहन स्टोरी भी बहुत पढ़ता था, इसलिए मैं अपनी बहन और मेरी मां को गंदी नजर से देखने लग गया था. और उनके नाम की मुठ मारता था. मेरे लंड का साइज़ ८ इंच लंबा और ३.५ इंच मोटा है. .आप ये चुदाई स्टोरी पर पढ़ रहे है. मेरे डैड मेरी मोम को ज्यादा सेक्स सुख नहीं दे पाते थे काम की वजह से. और मेरी मॉम जो की एक बहुत बड़ी हवस की शौकीन है उनका फिगर आप लोगों को बताया ही है ऐसा फिगर हम लोग के मोहल्ले में मेरी मां को छोड़ कर और किसी का भी नहीं था. सारे मर्द मेरी माँ को गंदी नजर से देखते थे.

एक बार मां मार्केट से घर जा रही थी पीछे से मैं भी आ रहा था. रास्ते में तीन चार मर्द का ग्रुप मेरी मॉम की गांड को देखे जा रहा था और एक ने तो अपना हाथ लंड पर भी रख दिया था. मेरी मोम जब भी चलती है गांड मटका के और उसकी सेक्सी क्लीवेज दिखा कर चलती है. मैं जब उन मर्दों ग्रुप के पास से गुजरा तो उनमें से एक बोला की साली इस रंडी की चूत एक रात मिल जाए तो सारी की सारी ख्वाइश पूरी कर दू.

मेरी मां शिवानी वैसे बहुत लंड ले चुकी है. अब मैं स्टोरी पर आता हूं कि मैंने कैसे शिवानी की चूत चोदी थी.

जब मैं मॉम को गंदी नजर से देखने लगा तो मां की पेंटी ब्रा रात में माँ सब खोल कर सिर्फ नाइटी में सोती है. तो मॉम की ब्रा पैंटी को सूंघ कर या फिर उसे पहन कर उस में मुठ मार देता था. रोज में उसके ब्रा और पेंटी को मेरे वीर्य से गन्दा कर के रख देता था. .आप ये चुदाई स्टोरी पर पढ़ रहे है.

पहले मोम नहाने जाती थी तो ब्रा और पेटीकोट को साथ में लेकर जाती थी और बाथ रुम से पहन कर बाहर निकलती थी. साड़ी और ब्लाउज मेंरे रूम में आकर पहनती थी. तब में अपने रूम में बैठ कर उसे देखता रहता था. में उनको एक नजर से देखता रहता था और उसके बूब्स को देखने की कोशिश करता रहता था.

लेकिन पिछले कुछ दिनों से मोम सिर्फ पेटीकोट लेकर नहाने जाती तो और बूब के ऊपर से पेटीकोट को पहन कर आती थी जिस में से मोम का आधा बदन नंगा दिखता था. मेरा लंड पैंट में टाइट हो जाता था और फिर मोम पूरा ड्रेस मेरे ही कमरे में आने के बाद पहनती थी और मैं देखता रहता था. ऐसा बहुत दिन तक चलता रहा. और में अपनी माँ को देख कर अपना लंड टाईट करता रहा.

लेकीन मेरी हिम्मत नहीं होती थी कुछ करने की. दीदी उस टाइम कोटा चली गई थी स्टडी करने तो उस टाइम सिर्फ घर पर सिर्फ मैं और मम्मी रहते थे. एक दिन मैंने भी सोचा की बात को आगे बढ़ाया जाए तो एक दिन जब मेरी माँ नहाने गई तो ब्रा मेरे बेड पर रख के जा रही थी जो आज वह पहनने वाली थी.

मैंने उसकी ब्रा की स्ट्रिप की हुक को टाइट कर दिया ताकि ना लगे और मेरे को बोले लगाने के लिए, मोम जब नहाने के बाद बहार आई तो बहोत ही हॉट एंड सेक्सी लग रही थी मेरा तो मन कर रहा था की साली को पटक के यही पर चोद दू लेकिन मेने किस तरह से अपने आप पर कंट्रोल कर लिया.किया अपने आप को

मोम जब ब्रा पहन कर हुक लगाने लगी तो नहीं लगा रहा था, मैं सब गजब देख रहा था. तभी मां बोली रोहित मेरी हुक लगा दो. मैं उठा और जैसे ही मोम की पीठ को टच किया मुझे तो जेसे की करंट लगा और मेरा लंड पूरा खड़ा हो गया.

मैंने मोम की पीठ पर हाथ फेरते हुए हुक लगा दिया क्या है ना मेरे रूम में एकबड़ा सा आयना है तो उसी के सामने मोम हमेशा ड्रेस पहनती है तो मुझे साफ साफ सामने का दिख रहा था. लेकिन मेरा अभी भी उसके आगे करने की हिम्मत नहीं हुआ.

उसके बाद मोम अपना ब्रा का हुक हमसे लगवाने लगी थी, शायद मोम भी हम से चुदवाना चाहती थी पर वह अभी इस को सीधी नहीं बोल पा रही थी. एक रात लाइट का थोड़ा प्रॉब्लम था और इनवर्टर से सिर्फ मोम के रूम का फैन चल रहा था तो मां बोली रोहित साथ में ही सो जाओ. थोड़ी देर इंतजार करने के बाद मैं मॉम के रूम में जा कर बेड पर लेटा हुआ था.

मोम एक सेक्सी नाइटी पहन कर आई, क्या लग रही थी रांड? तभी मैंने सोचा आज तो साली का चूत दर्शन कर के रहूंगा. उस रात में मोम के सोने की इंतजार कर रहा था. रात के करीब १२ बजे मुझे भी हल्की हल्की नींद आ गई थी. पर जब नींद टूटा तो मैं मोम के बाहों में सोया हुआ था.

Pages: 1 2 3

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *