मुसलमान औरत को चोदकर जन्नत की सैर करवा दी

Muslim Sex Story : सभी लंड धारियों को मेरा लंडवत नमस्कार और चूत की मल्लिकाओं की चूत में उंगली करते हुए नमस्कार। नॉनवेज स्टोरी के माध्यम से आप सभी को अपनी स्टोरी सुना रहा हूँ। मुझे यकीन है की मेरी सेक्सी और कामुक स्टोरी पढकर सभी लड़को के लंड खड़े हो जाएगे और सभी चूतवालियों की गुलाबी चूत अपना रस जरुर छोड़ देगी।

मेरा नाम आलोक श्रीवास्तव है। दोस्तों हमारे देश में अक्सर ही हिन्दू मुसलमान में लड़ाई चलती रहती है। जब कोई हिन्दू लड़का किसी मुसलमान लड़की से प्यार करने लग जाता है तो पूरा जमाना ही दुश्मन बन जाता है। ठीक ऐसा ही हुआ था मेरे साथ। मैं लखनऊ के हजरतगंज मोहल्ले का रहने वाला हूँ। यहाँ पर बड़ी मात्रा में हिन्दू मुसलमान साथ साथ रहते है। क्यूंकि यहाँ पर आबादी बहुत है और रहने वाले लाखो लोग है। मेरे घर के ठीक सामने वाले मकान में एक मुसलमान औरत रहने आ गयी थी। वो अभी किराए पर अपनी फेमिली के साथ रह रही थी। पहले मैं उससे जादा बात नही करता था। मैं फर्स्ट फ्लोर पर रहता था। वो भी फर्स्ट फ्लोर पर रहती थी।

कई बार जब उसे बुर्के में देखता था तो उसका चेहरा देखने का मन करता था। कुछ दिन बाद मेरी उससे अच्छी दोस्तों हो गयी। उसका नाम शबाना था। बहुत सुंदर औरत थी वो। हम दोनों के मकान आपने सामने और काफी पास थे। बीच में एक पतली सी गली थी। जब वो सामने बालकनी में कपड़े सुखाने आती थी तो मेरी उससे बात हो जाती थी।

“क्या तुम अकेली हो??” तुम्हारे हसबैंड नही दिखते है” मैंने उससे एक दिन पूछा

“मेरे हसबैंड ने मुझे तलाक दे दिया है। वो जहाँ पर जॉब करते थे वही पर किसी लड़की को पटा लिया है। अब उसकी ही चूत मारते है” शबाना बोली

फिर रोज ही मेरी उससे बात होने लगी। फिर फोन पर बात शुरू हुई। एक दिन रात में मेरा उससे मिलने का बड़ा मन कर रहा था। मैं शबाना को काल किया।

“तेरे कमरे में आ रहा हूँ” मैंने कहा

“कैसे आओगे?? घर में तो सब लोग है” वो कहने लगी

“जब रात हो जाएगी और जब सब सो जाएँगे तब आऊंगा” मैंने कहा

उसके बाद दोस्तों जैसे ही शबाना के घर में सब लोग सो गये मैं अपनी बालकनी से ही कूद गया उसके मकान में। पहले हमारा किस होने लगा। शबाना भी उतना ही बेकरार लग रही थी। वो आज गुलाबी कलर का चमकीले कपड़े वाला सलवार सूट पहने थी जैसा अक्सर मुस्लिम औरते पहनती है। मैंने उसके होटो को चूसना शुरू किया। उसके होट बहुत जूसी थे। काफी खूबसूरत औरत थी वो। वैसे ही मुसलमानों में लड़कियाँ अच्छी होती है।

“तुम मुझे बहुत अच्छे लगते हो आलोक!!” शबाना कहने लगी

“जानेजिगर!! जानेतमन्ना!! तुम भी किसी हूर से कम नही हो” मैंने कहा और खूब किस किया। उसके जूसी होटो को दांत से काट काटकर गरमा दिया। फ्रेंड्स मैंने आपको बताया ही नही की शबाना का फिगर 36 32 38 का था। उसके दूध काफी बड़े बड़े थे। उसके पति ने उसे कई साल चोदा था और दूध को हाथ से मसल मसल के बड़ा कर दिया था। उसकी गांड भी काफी भारी थी। शबाना भले ही मुसलमान औरत थी पर देखने में हिन्दू लगती थी। मैंने उसे काफी देर तक गले से लगाये रहा और उसे प्यार करता रहा। मैंने अब उसके गालो को दांत से काटना शुरू किया। वो “ओह्ह माँ..ओह्ह माँ.उ उ उ उ उ..अअअअअ आआआआ..” करने लगी। उसके कमीज से उसकी बड़ी बड़ी चूचियां मेरे ठीक सामने थे। मैंने हाथ लगा लगाकर दबाना और मसलना शुरू किया। खूब मजा दिया उसे।

“क्या करना है आलोक??” वो पूछने लगी

“तू बता??” मैंने मजाक करते हुए कहा

हम दोनों ही हँसने लगे। फिर वो बेड पर जाकर लेट गयी। मैंने उसके सूट को उतरवा दिया। ब्रा खोलकर वो नंगी होकर लेट गयी। मैंने उसकी चूची को छूना शुरू किया। शबाना की एक एक चूची इतनी चिकनी थी की मेरे तो हाथ ही फिसल जा रहे थे। मुझे तो सिर्फ छूकर ही मजा मिल रहा था। उसके दूध बिलकुल सफ़ेद थे दूध की तरह। और चूचको के चारो ओर लाल लाल गोले बहुत कामुक दिख रहे थे। मैंने पहले खूब दबाया, फिर मुंह में लेकर चूसने लगा। शबाना “ओहह्ह्ह..अह्हह्हह.अई..अई. .अई. उ उ उ उ उ.” करने लगी। उसे भी बहुत मजा आ रहा था। मैं दबा दबा कर रस निकाल रहा था। मैं दांत चुभा चुभा कर चूस रहा था। मैंने मन भरके उसके मम्मे चूस लिए। वो मेरी पेंट के उपर से लंड को सहलाने लगी।

“क्या कर रही है जानेबहार??” मैंने कहा

“मुझे अपना लौड़ा दिखाओ” शबाना कहने लगी

मैंने जल्दी जल्दी कपड़े उतारे। अपनी पेंट खोली। फिर अंडरवियर खोली और उसे अपना लौड़ा दिखा दिया। वो मेरे 8″ के सिलबट्टे जैसे दिखने वाले लौड़े को पकड़कर फेटने लगी। मैं बेड के साइड जाकर बैठ गया। शबाना मुठ दे देकर खड़ा करने लगी। मुझे आनन्द आने लगा। कितने दिनों बाद कोई लड़की मेरे लंड से खेल रही थी। फिर वो मुंह में लेकर चुसना चालू कर दी। मुझे बहुत अच्छा लग रहा था। अलग तरह की मस्ती आ रही थी। मैं उसके सिर को पकड़कर लंड पर दबा देता था। शबाना को लंड चूसने की खास ट्रेनिंग मिली हुई थी। वो मेरे 8″ लौड़े को अच्छे से मुठ दे रही थी। अपनी उँगलियों से पकड़कर जल्दी जल्दी फेट रही थी। मेरे लंड से माल बाहर आने लगा था। पहले तो खूब चूसा उसने। मुझे खूब मजा दिया।

Pages: 1 2 3

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *