ऑफिस की लड़की की चूत की मस्त चुदाई

मैंने कभी लड़की की चुदाई नहीं की थी. मैं चुदाई का मजा लेना चाहता था. मेरे ऑफिस में एक नयी लड़की आई. वो मुझे अच्छी लगी.. मैंने उस लड़की की चूत को चोदा. कैसे?

मेरा नाम मैडी (बदला हुआ) है. मैं 25 साल का हूं. मैं पिछले काफी समय से अन्तर्वासना की कहानियां पढ़ रहा हूं. अन्तर्वासना की सेक्स स्टोरी पढ़ कर मेरा मन किसी लड़की की कुंवारी चूत चोदने के लिए करता था. मगर मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं थी. मैं काफी दुबला पतला था.

मेरी पतली बॉडी के कारण कोई लड़की मुझे भाव नहीं देती थी. फिर मैंने जिम करना शुरू कर दिया. 6-7 महीने में ही मेरी बॉडी में फर्क दिखने लगा. अब मैं पहले से ज्यादा कॉन्फिडेंट फील करने लगा था.

साल भर के अंदर ही मेरी बॉडी काफी स्ट्रान्ग हो गयी. अब मेरे कपड़े मेरी बॉडी में एकदम से फिट आने लगे थे. मेरे मजबूत डोले और उभरी हुई चेस्ट को देख कर अब लड़कियां मेरी ओर आकर्षित भी होने लगी थीं.

एक दिन मेरे ऑफिस में आसिफा नाम की लड़की आयी. उसने नया नया ज्वाइन किया था. उसको पहली बार जब मैंने देखा तो देखता ही रह गया. उसका फिगर एकदम से मस्त था. उसकी चूचियां एकदम से मस्त शेप में थी. मीडियम साइज के बूब्स थे.

आसिफा की कमर का साइज 28 था. उसकी गांड ज्यादा मोटी तो नहीं थी लेकिन देखने में आकर्षक लग रही थी. उसने टॉप और जीन्स पहना हुआ था. उसका मस्त सा फिगर देख कर मेरा लंड तो फन उठाने लगा.

वो भी मेरी ओर ध्यान दे रही थी. उसको पता था कि मैं उसको ही देख रहा हूं. जब भी मैं उसको देखता था तो वो अपनी नजर चुरा लेती थी. मगर मैं जान गया था कि वो भी मेरी ओर देख रही है.

एक दो दिन तक हमारा ऐसा ही चलता रहा. ऑफिस के बाकी लड़के भी उसको पटाने के चक्कर में थे. मैं सोच रहा था कि अगर ये पट जाये तो इसकी चूत का उद्घाटन मैं ही कर दूं. आसिफा को देख कर मेरी चुदाई की तलब उफनने लगती थी.

मैंने आसिफा से बात करना शुरू किया. वो ज्यादा किसी से बात नहीं करती थी. मुझसे भी बहुत ही कम बात किया करती थी लेकिन औरों से ज्यादा किया करती थी. धीरे धीरे हम दोनों की दोस्ती होने लगी.

अब हम लोग लंच साथ में किया करते थे. जब ऑफिस के बाकी लड़कों को ये बात महसूस हो गयी कि आसिफा मेरे साथ ही ज्यादा वक्त बिता रही तो बाकी लड़कों ने उसको पटाने की कोशिश करना छोड़ दिया.

आसिफा अब मेरे साथ ही ज्यादा वक्त बिताने लगी थी. ऑफिस के अलावा हम लोग बाहर भी कॉफी वगैरह पीने के लिए चले जाया करते थे. आसिफा की चूचियों को देखना मेरी आदत में शुमार था. मैं नजर बचा कर उसकी चूचियों को घूरता रहता था. उसकी चूत के बारे में कल्पना करने मात्र से ही मेरा लंड टन्न से खड़ा हो जाता था.

अब मैं उसकी चुदाई का प्लान करने लगा था. मगर आसिफा ज्यादा खुल नहीं रही थी.

एक दिन मैंने उसको अपने साथ डिनर करने के लिए इन्वाइट किया. वो तैयार हो गयी.

हम दोनों एक रेस्तरां में खाना खाने के लिए गये. हम लोगों ने साथ में खाना खाया और फिर वो मुझे घर जाने के लिए कहने लगी. मैंने उसको मेरे घर चलने के लिए कहा तो वो नहीं मानी. फिर मैंने उसको उसके घर के पास छोड़ दिया. उस दिन मैंने उसके बारे में सोच कर मुठ मारी और फिर सो गया.

एक सप्ताह के बाद वीकेंड पर फिर मैंने उसको खाने के लिए बुलाया. अबकी बार मैंने उसको अपने घर पर खाने के लिए बुलाया. उस दिन मैंने उसकी कोल्ड ड्रिंक में शराब मिलाने के प्लान किया. मैं उसकी चूचियों और चूत के दर्शन करना चाह रहा था.

जब वो मेरे घर पर आई तो हमने साथ में डिनर किया. फिर हम दोनों कोल्ड ड्रिंक पीते हुए बातें करने लगे. प्लान के मुताबिक मैंने पहले से ही उसके ड्रिंक में शराब मिला दी थी. ज्यादा तो नहीं थी लेकिन इतनी थी कि उसको सुरुर हो जाये.

पीते हुए उसको हल्का सा शक हो गया तो मैंने कहा कि तुमने बहुत दिनों के बाद पी है इसलिए ऐसा टेस्ट आ रहा है. फिर वो मेरे साथ में ही कोल्ड ड्रिंक के सिप लेने लगी.

ऐसे ही बातें करते हुए मैंने उसके बारे में पूछना शुरू किया.
मैंने पूछा- तुम सिंगल हो क्या?
वो बोली- हां.
फिर उसने पूछा- तुम भी सिंगल हो क्या?

मैंने कहा- अगर मेरी लाइफ में कोई होती तो मैं इस वक्त किसी और के साथ डिनर कर रहा होता.
मेरी बात पर वो शरमा गयी.

उसके बाद मैंने नोटिस किया कि उसकी जबान लड़खड़ाने लगी थी. मैं उसकी ओर देख रहा था और वो भी मेरी ओर देख रही थी मगर बार बार नजर चुरा रही थी. उसके उभारों को देख कर मेरा लंड तन गया था.

मुझे थोड़ी असहजता हो रही थी मगर सेक्स भी चढ़ता जा रहा था.
मैंने कहा- तुम्हारा बॉयफ्रेंड तो बहुत ही लकी होगा.
वो बोली- ऐसा क्यों?
मैंने कहा- जिसकी इतनी सेक्सी गर्लफ्रेंड होगी वो तो सच में ही लकी होगा.

वो बोली- तुम्हारी गर्लफ्रेंड भी कोई किस्मत वाली होगी.
मैंने पूछा- मेरे में ऐसा क्या है?
वो बोली- सब कुछ.
मैंने कहा- फिर भी कुछ बताओ तो, मुझे क्या पता मेरे अंदर क्या पसंद आयेगा किसी लड़की को.

आसिफा ने कहा- तुम देखने में बहुत अच्छे लगते हो. तुम्हारा चेहरा और तुम्हारी बॉडी देख कर तो कोई भी लड़की तुमसे प्यार करने लगेगी.
मैंने कहा- मगर मुझे तो किसी से पहले ही प्यार हो चुका है.
वो बोली- किससे?
मैंने कहा- अभी जो मेरे सामने बैठी हुई है.