ऑफिस वाली सिमरन का फाड़ा भोसड़ा

हैल्लो दोस्तों, मैं हूँ तरुण antarvasna और आज बहुत समय बाद कामलीला डॉट कॉम पर अपनी एक सच्ची सेक्स स्टोरी लेकर आया हूँ ये बात आज से 2 साल पहले की है जब ये चुदाई का खेल शुरू हुआ था और आज भी ये खेल चल रहा है, तो मैं आज आपको शुरू से सब कुछ बताता हूँ ताकि आप सब स्टोरी को पढ़कर पूरा मज़ा ले सके।

मेरी पढ़ाई पूरी हो गई थी और मुझे एक कंपनी में सीधे ही मैनेजर की जॉब मिल गई थी दोस्तों मेरा नेचर शुरु से ही काफ़ी अच्छा रहा है इसलिए मैं वहां जाते ही सबका दोस्त बन गया मुझे वहां के करीब 150 लोगों का स्टाफ काफ़ी पसंद करता था मेरे नीचे लड़के, लड़कियां काफ़ी अच्छे से काम कर रही थी मुझे हर कोई पसंद करता था क्योकि मैं सबको समय देता था और सबसे बड़े प्यार से बात करता था मुझे अपनी हर कोई प्राब्लम बताता था जिसे मैं एक सेकेंड में ही खत्म कर देता था ऐसे ही मुझे कंपनी में जॉब करते हुए कबका 1 साल हो गया मुझे पता तक नहीं चला, कंपनी वालो ने मुझे काफ़ी गिफ्ट्स भी दिए क्योकि मैं सबसे अच्छा काम कर रहा था एक साल बाद मुझे कंपनी वालो ने मुझे एक अपनी दूसरी कंपनी में भेज दिया ताकि मैं वहां पर कुछ समय देकर वहां का भी माहोल काफ़ी अच्छा बना सकूँ, मुझे काफ़ी अच्छा लग रहा था वहां पर काम करना पर मुझे अपने पुराने ऑफीस और अपने स्टाफ की बहुत ज़्यादा याद आती थी आख़िर मैं अपनी नई जगह काम करता रहा और वहां भी मुझे देखते ही देखते एक साल हो गया था वहां पर भी मुझे काफ़ी इज़्ज़त और प्यार मिला फिर मुझे वहां के बॉस ने कहा की अब आप अपने ऑफीस में वापिस जा सकते हो आपने यहाँ अपना एक साल देकर यहाँ जो काम और कुछ नये नियम बनाए है अब वो इस कंपनी को हमेशा चलाने के लिए काफ़ी है। फिर मैं वहां से भी काफ़ी इज्जत और गिफ्ट्स और प्यार लेकर वापिस आ गया जब मैं अपने पुराने ऑफीस बिना बताए आया तो सब लोग खुशी से पागल हो गये और मुझे पागलो की तरह आकर मिलने लग गये मुझे ऐसा लग रहा था की मैं बहुत बड़ा हीरो हूँ जो मुझे ऐसे लोग मिलने के लिए आ रहे है। उनका प्यार देखकर मेरी आँखो में से खुशी के आँसू आ गये फिर मेरी नज़र एक लड़की पर पड़ी जो वहां पर नई थी उसे देखकर मैं हैरान रह गया सच में काफ़ी खूबसूरत और सेक्सी लड़की थी।

जैसे ही मेरी नज़र पर उस पर पड़ी तो मेरी नज़र वही पर रुक गई और मैं उसे देखता ही रह गया वो मुझे देख नहीं रही थी और सिर्फ़ अपने ही काम में लगी हुई थी मैं उससे बात करना चाहता था पर मुझे लोग छोड़ ही नहीं रहे थे पहला दिन तो मेरा ऐसे ही सबसे मिलने और दुख सुख में निकल गया अगले दिन जब मुझे तोड़ा समय मिला तो मैंने उसके बारे में पूछा तो मुझे उसका नाम पता चला उसका नाम सिमरन है और उसने वहां पर अभी पिछले 2 महीने से जॉब करना शुरू किया है मैं उसके पास गया और उससे एक दोस्त की तरह बात करना शुरू कर दिया पहली ही मीटिंग में मैंने उसे अपना अच्छा दोस्त बना लिया था फिर हम दोनों करीब 10 मिनट तक ऐसे ही बातें करते रहे तभी उसने मुझे बताया की उसके बॉयफ्रेंड ने उसे छोड़ दिया था इसलिए वो काफ़ी टूट चुकी थी इसलिए उसने यहाँ पर जॉब करी है ताकि उसका दिन तो निकल जाए। अब हम दोनों एक दूसरे के अच्छे दोस्त बन चुके थे हम दोनों अब कंपनी में और कंपनी से बाहर बिना किसी को बताए मिलने लग गये थे कभी कभी तो हम दोनों एक साथ कंपनी से छुट्टी भी मार लेते थे और किसी को पता तक नहीं चलता था एक दिन की बात है मैं उसे कंपनी के स्टोर रूम में ले गया और वहां पर हम दोनों बैठकर बातें कर रहे थे।

वहां पर कोई आता जाता नहीं था फिर वहां पर उसने मुझे अपनी आप बीती बताई जिसे सुनकर मेरा दिल भी रोने लग गया वो अब ज़ोर ज़ोर से रोने लग गई थी मैं खड़ा हुआ और उसके पास जाकर उसको अपने सीने से लगा लिया तब मैंने पहली बार उसका फिगर नोट किया था सिमरन का जिस्म कुछ ऐसे था 34-30-32, क्यों दोस्तों है ना मस्त आपके लंड में भी हलचल होनी शुरू हो गई होगी। उसके बाद मैंने उसे चुप करवाया पर उसके बूब्स जब मेरे सीने से लग रहे थे तब नीचे से मेरा लंड खड़ा होने लग गया था फिर मैंने उसे जल्दी से चुप करवाया और उसे कहा देखो सिमरन इस दुनिया में जब भी तुम अकेली पड़ जाओ तो मुझे याद करना मैं तुम्हारा हर दम और कदम पर पूरा साथ दूँगा मेरी बातें सुनकर वो थोड़ी खुश हो गई और फिर हम दोनों वहां से निकल लिए और अपने काम पर लग गये ऐसे ही काफ़ी दिन निकल गये और एक दिन मुझे सिमरन का फोन आया उस दिन मेरे घर में मेहमान आए हुए थे उसने मुझे फोन पर कहा की क्या मैं आपके घर मिलने के लिए आ सकती हूँ मैंने उसे कहा की आ तो तुम सकती थी पर इस समय मेरे घर पर मेहमान आए हुए है इसलिए मैंने अपने घर से काफ़ी दूर एक पार्क में उसे आने को कहा, फिर हम दोनों ने 5 बजे का समय सेट किया और फिर हम दोनों पूरे समय पर वहां आ गये वहां जाकर हम दोनों एक कुर्सी पर बैठ गये तो उसने मुझे बतया की वो एक लड़के से बहुत प्यार करती है और वो भी मुझे बहुत प्यार करता है हम दोनों शादी करना चाहते है पर उसके मम्मी पापा बहुत ही खराब है मुझे लगता है की वो मुझे शादी के बाद बहुत ही तंग करेगें इसलिए प्लीज़ आप ही बताओ की मैं उससे शादी करूँ या नहीं? मैंने उसे समझाया की शादी से पहले तो ऐसा ही होता है पर शादी के बाद सब कुछ ठीक हो जाता है इसलिए तुम फिकर मत करो सब कुछ ठीक हो जाएगा उसके बाद मैंने उससे उस लड़के का नंबर ले लिया और उसे भी फोन पर समझा दिया ऐसे मैंने उन दोनों की आन बनकर जड़ से खत्म कर दिया फिर वो अपने घर चली गई और मैं अपने घर मैं खुश था की मैंने उसकी शादी की मुश्किल को खत्म कर दिया था फिर एक दिन वो मेरे पास आई और अपनी शादी का कार्ड मुझे दिया वो बहुत खुश थी और उसने मुझे कहा की आपको आना ही है, शादी से पहले सगाई का प्रोग्रम था जहाँ पर मैं गया उसके परिवार वाले मुझे बहुत मानते थे इसलिए मुझे देखते ही सबसे पहले मेरा बहुत अच्छे से स्वागत किया मैंने वहां पर सिमरन के साथ काफ़ी सारे गानों पर डांस किया और उसके साथ काफ़ी मस्ती करी।

Pages: 1 2 3

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *