पड़ोस की महिला को अपने घर पर चोदा

मुझे कई बार उन पर गुस्सा भी आता था लेकिन मैं चुप हो जाती हूं परंतु अब बहुत ज्यादा होने लगा है यदि कोई मेरा पुराना दोस्त मुझसे मिलने भी आता तो वह उसके साथ भी झगड़ा कर लेते इसीलिए हम दोनों ने फैसला किया है कि हम दोनों डिवोर्स ले लेंगे, मैं यह सोच रही हूं कि उसके बाद मैं कहां काम करूंगी। मैंने उनसे पूछा कि आपकी उम्र कितनी है, वह कहने लगी कि मेरी उम्र 32 वर्ष है। वह बहुत ही परेशान थी और मैंने उनसे उनका रिज्यूम ले लिया और कहा कि मैं अपनी कंपनी में आपके लिए बात करता हूं यदि वहां पर कोई वैकेंसी हुई तो मैं आपको बुला दूंगा। अब वह वहां से चली गई और मैं कुछ देर उसी दुकान में बैठा हुआ था, मुझे वह दुकान वाला भी कहने लगा कि यह महिला बहुत ज्यादा परेशान हैं। मैं वहां से उठकर चला गया और जब मैं घर पर आया तो मैं उसके बारे में ही सोचने लगा, मैंने अपने एक दोस्त से उनके लिए नौकरी की बात की और मैंने उन्हें उसी दिन शाम को फोन किया और उन्हें कहा कि महिमा जी आप यदि काम करना चाहती हैं तो मेरे दोस्त के ऑफिस में एक वैकेंसी खाली है, आप वहां पर कल इंटरव्यू दे आइएगा आपका वहां पर सलेक्शन हो जाएगा। वह कहने लगी ठीक है मैं वहां पर चली जाऊंगी। जब वह उस ऑफिस में गई तो उनका सिलेक्शन हो गया क्योंकि वह पढ़ी लिखी थी और वह पहले भी नौकरी करती थी इस वजह से उनका वहां सिलेक्शन हो गया। उसके बाद उन्होंने मुझे फोन किया और कहने लगी कि मैं आपका धन्यवाद कहना चाहती हूं, आपने मेरी बहुत मदद की। मैंने उन्हें कहा कि इसमें मदद वाली कोई बात नहीं है, आपको बहुत जरूरत थी इसलिए मैंने आपका रिज्यूम अपने दोस्त को भेज दिया था। अब उनकी नौकरी लग चुकी थी और वह बहुत खुश थी। वह मुझे अक्सर फोन कर देते थे और एक दिन उन्होंने मुझसे मिलने की इच्छा जताई, मैंने उन्हें अपने घर पर ही बुला लिया। जब वह मेरे घर पर आई तो कहने लगी तुमने तो अपने घर को बहुत साफ रखा है।

वह मेरे साथ ही बैठ कर बातें कर रही थी और उस दिन वह मुझे कहने लगी मैं तुम्हारे लिए खाना बना लेती हूं। उन्होंने मेरे लिए उस दिन खाना बनाया और हम दोनों ने साथ में ही उस दिन लंच किया लंच करने के बाद हम दोनों साथ में बैठे हुए थे और मैं महिमा के स्तनों को बड़े ध्यान से देख रहा था क्योंकि उसने बहुत पतला सा टॉप पहना हुआ था जिससे की उसकके चूचे दिखाई दे रहे थे। मैंने जब उसके स्तनों पर हाथ लगाया तो वह समझ गई मुझे उसके साथ सेक्स करना है। मैंने उसे अपनी बाहों में ले लिया कुछ देर बाद उसने भी मेरे लंड को बाहर निकालते हुए अपने मुंह में समा लिया और बहुत अच्छे से सकिंग करने लगी। उसने मेरे लंड को इतने अच्छे से चुसा की मेरा पूरा पानी बाहर निकलने लगा मैं उत्तेजित हो चुका था। मैंने भी उसे अपने बिस्तर पर पटक दिया और उसके सारे कपड़े उतार दिए। जब मैंने उसके स्तनों को देखा तो मैंने तुरंत उसे अपने मुंह में समा लिया और चूसना शुरू कर दिया। मैंने उसके स्तनों को बहुत अच्छे से चूसा उसके बाद मैंने उसकी योनि के अंदर अपने लंड को डाल दिया। जब मैं उसे चोद रहा था तो मुझे बहुत अच्छा लग रहा था और मैंने काफी देर तक उसे चोदा। मैंने उसे अपने ऊपर लेटा दिया जब मेरा लंड उसकी योनि में गया तो वह चिल्लाने लगी। वह अपने चतडो को ऊपर नीचे करने लगी मुझे बहुत अच्छा महसूस हो रहा था जब वह अपनी चूतडो को ऊपर नीचे कर रही थी। लेकिन मैं उसकी योनि को ज्यादा समय तक नहीं झेल पाया जब उसकी योनि में मेरा वीर्य गया तो मुझे बहुत शांति मिली उसके बाद मैंने उसे अपने बगल में लेटा दिया हम दोनों एक दूसरे को पकड़ कर लेटे हुए थे।