पति से चुदाई तो देवर गान्ड चोदा : भाग-२

दोस्तों, दीपा अपने रूम में बिस्तर पर नग्न अवस्था में लेटी हुई चुदाई की आखिरी पड़ाव पर थी तो मेरे पति नमन वाशरूम से फ्रेश होकर निकले, उनके ८-९ इंच लंबे लंड साथ ही ढाई इंच की मोटाई तो अंडकोष बड़े बड़े देख मुंह में पानी आ गया और फिर वो मेरे बगल में बैठ जांघों पर हाथ फेरने लगे ” चल आज मेरे लन्ड पर ही बैठकर चूतड उछाल उछालकर चुदाई का मजा ले ( मैं बेशरम लड़की की तरह उठी और अपने पति को बिस्तर पर ही धकेल दी ) ठीक है आज लगता है कि मेरी बुर की कचूमर निकल कर ही रहेगी ” तो उनके लंड को पकड़ सहलाने लगी, फिर उनके लंड के ठीक ऊपर अपनी चूत किए बैठी तो दोनों जांघें फैली हुई थी और नमन मेरे कमर को पकड़ मेरे तन को संतुलित किए, अब मैं नजरे झुकाए उनके लंड पकड़ चूत में घुसाने लगी तो समझो चूत में आधा लंड आराम से चला गया, एक तो चुदाई की वजह से ढीला हो चुका था तो फिलहाल रसीला भी और नमन का लंड बुर में फंस सा गया तो मैं उनके लंड के ठीक ऊपर बैठ चुदाई के लिए आतुर थी और तभी नमन मेरे कमर को कसकर पकड़े नीचे से एक जोर का धक्का दे मारा, लगा कि कोई खरनजा चूत में चुभ सा रहा है ” आह बाप रे साले तेरा लंड तो दिन प्रतिदिन मोटा ही होता जा रहा है ( नमन लेटे हुए धक्का देने लगा ) हां तेरे चूत का पानी पीकर लंड मोटा हो गया है ( मैं भी अपने चूतड उछालने लगी ) सो क्या, शादी से पहले किसी की चुदाई नहीं किए थे ( नमन अपने कमर को स्थिर किया तो मैं चूतड उछालते रही ) नहीं मौका ही नहीं मिला ” और इस स्मार्ट मर्द की झूठी बात पर मैं मुस्कुराते हुए चूतड उछाल उछालकर चुदाने लगी, मेरे एक बूब्स को पकड़ वो दबाने लगा तो चूत में अब गर्मी सी होने लगी, पति का लंड मोटा और लंबा ही नहीं था बल्कि देर तक चूत में टिक्कर चुदाई करता था। दीपा अब चूतड स्थिर कर उसके तन पर लेट चेहरा को चूमने लगी तो नमन मेरे चूतड को सहलाने लगा फिर खुद ही मैं अपने जिस्म को आगे पीछे करते हुए चुदाई का मज़ा देने और लेने लगी तो नमन मेरे चेहरे को चूमता हुआ चूतड पर थप्पड़ मारे जा रहा था और फिर वो खुद अपने कमर को उठाते हुए नीचे से धक्का मार मारकर चूत को चोदने लगा तो मैं अब चूत की गर्मी से परेशान थी लेकिन चुदाई में काफी मजा आ रहा था और फिर मेरी दोनों चूचियां उसके छाती से रगड़ खा रही थी, पति ८-९ मिनट से चोद चोदकर बुर का भुजिया बना चुका था और फिर वो बोल पड़ा ” उह आह अब निकलेगा ” तो मैं उसके लंड पर फिर से दुबारा बैठ गई और चूतड उछालने लगी, पल भर बाद मेरी चूत में वीर्य था तो गर्म चिपचिपा पदार्थ मेरे चूत से निकल कर उसके झांट पर गिरने लगा, झट से उतरी और पति के लंड को मुंह में लेकर वीर्य का स्वाद चख ली, फिर दोनों फ्रेश हुए लेकिन पति तो थकावट की वजह से सो गया और दीपा अब देवर की बाहों में……. रात के १२ बजे मैं पति को बिस्तर पर सोते हुए छोड़कर एक सेक्सी नाईटी पहनी फिर बगल के रूम चली गई, जहां मेरे देवर विवेक थे तो अब पति की जगह अपने देवर से सेक्स का आनंद लेती, उनके रूम घुसी तो कमरे में नाईट बल्ब जल रहा था और वो करवट लिए सोए हुए थे तो मैं दबे पांव उनके करीब गई और उनके बगल में बैठ उनके पीठ पर हाथ फेरने लगी लेकिन वो गहरी नींद में थे तो मैं अब बेड पर उनके चेहरे की ओर बैठ उनके शॉर्ट्स के उपर से ही लंड के उभार को पकड़ दबाने लगी और मुझे उनके कड़े लंड का एहसास मिलने लगा और फिर अचानक विवेक की नींद खुली तो मुझे ब्लू रंग की सेक्सी नाईटी में देख मुस्कुराया और उठकर बैठा, मुझे अपने सीने से लगाकर बोला ” ओह माई सेक्सी भाभी मैं आपका इंतजार कर थक गया फिर सो गया ( मैं उसके गोद में बैठ उसके गाल चूमने लगी ) जरूर मेरे स्मार्ट देवर जी ” और फिर दोनों एक दूसरे के ओंठ पर ओंठ रख चुम्बन देने लगे तो विवेक की गोद में चूतड रखे मैं उसके ओंठ को मुंह में लिए चूसने लगी तो विवेक मेरे पीठ सहलाता हुआ दाईं बूब्स का आनंद छाती पर ले रहा था, रात के बारह बजे दीपा अपने पति से चुदाई का मजा लेकर देवर के संग सेक्स को आई थी तो अब विवेक मेरे चेहरे को पीछे धकेल अपना ओंठ निकाल लिया फिर मुझे बेड पर लिटाकर मेरे बूब्स को नाईटी पर से ही पकड़ दबाने लगा ” आपकी चूचियां टाईट है ( मैं शरमाते हुए ) जब आपका भतीजा दूध पिएगा तब ही ढीली पड़ेगी ” और फिर वो मेरी नाईटी को जिस्म पर से उतार नंगा कर दिया, सिर्फ चूत पर पेंटी पहन रखी थी तो विवेक मेरे ऊपर लेट कर मेरे गर्दन चूमने लगा साथ ही एक चूची को आराम से पकड़ पुचकार रहा था तो दीपा उसके शॉर्ट्स को कमर से नीचे करने लगी, आखिर में मुझे उसका लंड जो देखना था और फिर वो मेरी चूची मुंह में लिए चूसने लगा तो उसका मूसल लंड अब मेरे पेंटी पर रगड़ा मारने लगा लेकिन अभी तो मैं चुदाई कराकर ठंडी पड़ी हुई थी तो विवेक मेटी चूची चूसता हुआ मुझे गर्म करने लगा और मैं आहें भरने लगी ” उह ओह उई कितनी गुदगुदी चूत में हो रही है ” तो वो मेरी बाईं चूची छोड़ दाहिने चूची को मुंह में लिए चूसने लगा, शादी के मात्र ७-८ महीने हुए हैं सो चूची शेप में है और ३४ कप साईज ब्रेसियर से चूची ढक जाती है तो मेरी चूची चूसता हुआ मुझे गर्म कर चुका था…. to be continued.