तलाकशुदा की चुदास

फिर मैं नीचे गया और मैंने उसके दोनों पैर अपने हाथों में ले लिए और उसकी पैरों की उंगलियों को अपने मुंह में ले लिया. वो इतनी उत्तेजित हो गयी कि लग रहा था बस अभी झड़ जाएगी. उसके साथ किसी ने कभी भी ऐसे नहीं किया था. वो एक दम नशे जैसी हालात में लग रही थी…

मैं अपने रियल एक्सपीरियंस की बहुत सी कहानियां लिख चुका हूँ और मेरी कहानियों के मुझे बहुत अच्छे फीडबैक मिले और सब को मेरा प्री और पोस्ट सेक्स वाला पार्ट बहुत पसंद आया.

मेरी आपबीती सब को इतनी पसंद आयी कि मुझे बहुत सी लड़कियों ने सेक्स लिए आमंत्रण तक दे ड़ाला. माफ़ कीजिएगा लड़कियों मैं भोपाल, मध्य प्रदेश में रहता हूँ और किसी की सेक्स की ललक को पूरा करने के लिए मणिपुर, उत्तराखंड, नेपाल नहीं आ सकता.

मुझे मिले इन आमंत्रणों में से एक लड़की ऐसी भी थी जोकि भोपाल की ही रहने वाली थी और मुझे उसका मेरे साथ सेक्स करने का कारण भी सही लगा. तो मैंने उसका निवेदन स्वीकार कर लिया.

उसका नाम रावी (बदला हुआ नाम ) था. वह 27 साल की एक तलाकशुदा लड़की थी. उसका पति 1 साल पहले किसी और लड़की के चक्कर में उसे छोड़ कर चला गया था. चूंकि उसके माँ – बाप का देहांत हो चुका था इसलिए वो अपनी छोटी बहन के साथ भोपाल में ही रहती थी.

वो एक प्राइवेट बैंक में मैनेजर के पद पर कार्यरत है और उसकी बहन अभी इंजीनियरिंग के फाइनल ईयर में पढ़ती है. 6 महीने पहले जब उसने मुझे बताया कि वो अपनी सेक्स की ललक को नहीं बुझा पाती है और फिर उसने मुझसे आग्रह किया तो मैंने उसकी मदद करने के लिए हाँ कर दी.

हम अब ईमेल पर बात करने लगे. ये सारी बातें उसने मुझे ईमेल पर ही बताई थी. जब मैंने उससे उसकी फोटो मांगी तो पहले वो थोड़ा हिचकिचाई लेकिन बाद में फिर मान गयी. वो एक सुन्दर लड़की थी. उसके चेहरे पर मासूमियत थी और एक छुपा हुआ सा दर्द भी था. उसकी फोटो देख कर मैंने मन में सोचा कि कोई ऐसी प्यारी लड़की को छोड़ कर जा कैसे सकता है.

फिर मैंने उससे सेक्स के बारे में पूछा तो उसने बताया कि उसकी बहन की रोज़ कोचिंग रहती है और शनिवार और इतवार को कोचिंग की टाइमिंग ज्यादा लम्बी रहती है तो ऐसे में मैं वीकेंड्स में कभी भी उससे मिलने आ सकता हूँ.

अब हमने ईमेल पर ही दिन डिसाइड कर लिया और फिर मैंने उसे सारी तैयारियां कर के रखने को कहा. इस पर उसने झट से कहा, “जो हुकुम मेरे मालिक”. यह सुन कर मैं जोर – जोर से हँसने लगा. फिर मैंने उसे अपना फ़ोन नंबर उसे दे दिया और उसने मुझे भी अपना नंबर और अपने घर का पता दे दिया.

आखिर वो दिन आ ही गया. हम दोनों एक – दूसरे से मिलने के लिए तैयार थे. उसने मुझे सुबह 8 बजे फ़ोन करके आने को कहा. मैं तुरंत तैयार होकर 9 बजे तक उसके घर पहुँच गया. उसका घर भोपाल के एक अमीर इलाके में था. जहां एक घर इतना बड़ा होता है कि एक घर की आवाज़ दूसरे घर तक नहीं पहुँच पाती. मैंने डोर बेल बजायी तो उसने दरवाज़ा खोला. मैं उसकी सूरत देखता ही रह गया. वो बहुत ही प्यारी सी लड़की थी.

उसकी हाइट करीब 5 फुट 1 इंच रही होगी और उसका रंग गोरा, बड़ी – बड़ी आँखें, गोल मटोल गाल, छोटी सी नाक, प्यारे से होंठ जिन पर एक क्यूट सी स्माइल थी. उसने सफ़ेद रंग का टॉप पहन रखा था. जिसमें सामने की तरफ दो बटन थे. उसने नीचे एक लॉन्ग स्कर्ट पहना था.

उसकी आवाज़ बहुत ही आकर्षक थी. मैंने इससे पहले उससे बात नहीं की थी. हम ज्यादातर ईमेल से ही बात करते थे और फ़ोन पर मैंने इतना गौर नहीं किया था.
उसने मुझे देखा ओर पूछा, “क्या आप तेज हैं?”

तो मैंने कहा – जी, मैं ही तेज हूँ.

इस पर उसने मुझे अंदर बुला लिया और मैं धन्यवाद देता हुआ अंदर चला गया. हम दोनों अंदर आये और फिर उसने मुझे सोफे पर बिठाया और मेरे लिए पानी लेने चली गयी. इस दौरान मैंने उसका घर देखा. क्या कमाल का घर था! घर पूरी तरह से सुसज्जित, भीनी – भीनी गुलाब की खुशबू वाले रूम फ्रेशनर, कुल मिला कर सब कुछ बेस्ट था.

जब वो मेरे लिए पानी और चाय लेकर आयी तो मैंने उसे उसके घर के लिए कॉम्प्लेमेंट किया तो उसने थैंक्स कहा और फिर हम बातें करने लगे. हम ने बहुत सी बातें की और हमें वक़्त पता ही नहीं चला.

इसी बीच मैंने उसे अपने पास आते देखा तो मैं भी देर ना करते हुये आगे बढ़ा और हम किस करने लगे. मैं बता दूं कि वो बहुत अच्छा किस करती है. और उसके किस करने के तरीके को देख कर कोई भी नहीं कह सकता कि ये लड़की सेक्स की भूखी है.

फिर हमने लगातार 15-20 मिनट तक किसिंग की. अब हम दोनों सेक्स के लिये पागल हुए जा रहे थे तो मैंने उसे अपनी बाहों में उठा लिया और उससे बैडरूम का रास्ता पूछा तो उसने मेरी आँखों में कामुक निगाहों से देखा और बैडरूम की तरफ इशारा करते हुए कहा, “उस तरफ”.

अब मैंने उसे बेडरूम ले जाकर कर पलंग पर लेटा दिया और फिर से किस करने लगा. इस बार मैं उसके होंठ, गाल, गर्दन, सभी जगह किस करने लगा. जिससे वो ज़ोर – ओर से सिसकियां ले रही थी और मेरे बालों में उंगलियां फेर रही थी.

Pages: 1 2 3

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *