चेन्नई एक्सप्रेस में चूत से मुलाकात

फिर उस लेडी ने पूछा कि कैसे हो, कहां हो?
मैंने उसकी इन बातों का रिपलाई दिया औऱ पूछा- आप कौन हो मैडम? शायद गलती से आपने गलत नम्बर डायल कर लिया है.

फिर भी वो लगातार मुझसे कुछ कुछ पूछती रही. वो बोली- मुझे नहीं पहचाने?
मैं बोला- नहीं.
तो वो बोली- कितने लड़कियों को डेट करते हो?

मैं मुस्कुराने लगा, फिर उसने अपना नाम बताया तो मैं जोर से बोला- ओहो अरे तुम हो, कहां थी इतने दिनों से?
तो वो बोली- ये बताओ तुम्हारे घर पर जगह है या कोई दोस्त का फ्लैट खाली है?
मैं बोला- नहीं, ऐसी तो कोई जगह नहीं है.. क्यों क्या हुआ.. ये तो बोलो?
तब वो बोली- मैंने पिछले 6 महीनों से सेक्स नहीं किया है, मेरा ब्रेकअप हो गया है.. प्लीज़ कोई जगह बताओ, मैं उधर आ जाती हूं.. मुझे सेक्स करना है.. बहुत आग लगी है.

मेरी तो जैसे लॉटरी निकल आई, मैं उसको कंनवेंस करने लगा कि मेरे पास कोई जगह नहीं है. काफी समझाने के बाद वो मान गई और उसने मुझे अपने घर पर बुला लिया.
मैं सोचने लगा कि मुझे ऐसी ही लड़की या औरत चाहिए जो सिर्फ लंड की जरूरत होने पर ही फोन करे और चुदाई की बात करे.

मैं भी जल्दी जल्दी बाथरूम में गया और फ्रेश होकर झांटें वगैरह साफ़ करके जल्दी से निकला. फिर मैं लोअर परेल स्टेशन पहुँचा. फिर दूसरी लोकल से दादर उतरा. इतने में वो लगभग दस बार फोन कर चुकी थी. शायद वो लंड के लिए बहुत ज्यादा उतावली हो रही थी. इसलिए लगातार फोन किए जा रही थी.

दादर उतर कर मैंने टैक्सी ली और उसकी बताई हुई जगह (वडाला) पहुँच गया. वो उधर मेरा इन्तजार करती हुई मिली. मैंने उसको लगभग दो साल बाद देखा, वो बहुत बदल गई थी. जब मैं उस से 2015 में ट्रेन में मिला था, उस वक्त वो एक लड़की दिख रही थी, बिना शादीशुदा, लेकिन अब वो एक पूरी औरत नजर आ रही थी.

खैर हम दोनों उसके फ्लैट पर पहुँचे, हमारी कुछ बातें हुईं और वो अपने बारे में बताने लगी. फिर हम उसके बेडरूम में गए और मैं उसको पकड़ कर कर किस करने लगा और फिर उसकी गरदन पर किस करने लगा.
वो ‘आहहहहह आह आहह..’ करते हुए मजे ले रही थी और मैं लगातार किस किए जा रहा था. फिर मैंने उसके टॉप को उतारा और उसकी चूचियां बारी बारी चूसने लगा. वो लगातार आहह आह आहहह करके मजे ले रही थी.

मैं उसके मम्मे चूसते दबाते हुए थोड़ा नीचे आया और उसके पेट पर पर किस करने लगा. पेट पर मेरे चूमने से उसके मुँह से ‘आहहह उफफफ.. ओ माय गॉड, ओह..’ निकला जा रहा था.

मैं धीरे धीरे उसकी नाभि को किस करते हुए उसकी जांघों तक पहुँचा और उस पर किस करने लगा लगा. उसके बाद जो देखने लायक सीन था, वो गजब का था. वो बिल्कुल सांप की तरह खुद के जिस्म को ऐंठने लगी. उसकी कसमसाहट देख कर बहुत मजा आ रहा था.

फिर उसने मुझे जल्दी से हटाया और चुदासे सी स्वर में बोली- प्लीज़ जल्दी से अन्दर करो.. चोदो मुझे.. मैं बहुत दिनों से लंड की भूखी हूँ.
मैंने तुरंत कंडोम लगाया और उसकी चुत में लंड डाल कर हचक कर चोदने लगा.
वो बोली- आह.. अभी धीरे धीरे करो राजा..
मैं थोड़ा स्लो स्लो चुदाई करने लगा.

उसने अपने दोनों पैर ऊपर किए और बोली- अब तेज करो.
मैंने भी उसके दोनों पैरों को अपने दोनों हाथों से पूरी तरह से जकड़ लिए. फिर घमासान चुदाई शुरू हो गई. मेरे हर शॉट पर उसकी चीख से पूरा कमरा गूंज रहा था और वो ‘आह आह.. उफफफ.. उफफफ.. नो नो..’ की आवाज निकालते हुए चीख रही थी.

फिर कुछ देर बाद मैंने उसके एक पैर अपने कंधे पर रखा और दूसरे पैर को मैंने अपने पैरों के बीच में फंसा लिया. अब मैंने उसे ठोकना शुरू कर दिया और फिर से घमासान चुदाई शुरू कर दी.

उसकी कामुक कराहें और चीखें फिर से गूँजने लगीं. मुझे उसको इस तरह हचक कर चोदते हुए आठ से दस मिनट हो गए होंगें.
तभी उसने गांड उठाते हुए बोला- साहिल अब अपनी रफ्तार बढ़ाओ यार.. बहुत मजा आ रहा है… जोर जोर से चोदो.

मैंने भी वैसा ही किया और चुदाई तेज करना शुरू कर दी. अभी कुछ ही शॉट मारे होंगे कि उसने मुझे जोर से जकड़ लिया. इस वक्त मुझे ऐसा लग रहा था कि वो मुझे पूरा का पूरा अपने अन्दर घुसा लेगी. एक तेज आवाज के साथ वो झड़ने लगी. उसकी गर्मी से मैं भी आठ दस धक्कों के बाद झड़ गया.

वीर्य और रज का मिलन होने लगा.. असीम आनन्द मिल रहा था.. आँखें एकदम मुंद सी गई थीं.
स्खलन के बाद मैं बेड पर साईड में होकर लेट गया और वो बाथरूम में जाकर फ्रेशअप होने लगी.

फिर मैं भी फ्रेशअप हुआ और बाहर हॉल में आ गया. मैंने पानी पिया और हमारी बातें शुरू हुईं.

वो पूछने लगी- तुम कितनी बार कर सकते हो?
मैं बोला- जितना तुम बर्दाश्त कर सकती हो.

उसके बाद हम इधर उधर की बातें करने लगे, तब उसने बताया कि उसकी शादी हो चुकी है और उसका एक लड़का भी है लेकिन उसके हसबैंड की शादी के एक साल के बाद ही किसी दुर्घटना में मौत हो गई, तब से वो अकेले रह रही है.

एक घंटे यूं ही बातें होती रहीं, फिर उसने फोन पर खाने का आर्डर दे दिया और मैं फिर से उसको पकड़ कर बेडरूम में ले गया. हम दोनों ही मूड में आ गए थे. मैंने अपने और उसके कपड़े उतार दिए और मैं उसको किस करने लगा. वो मेरे सीने पर किस करने लगी और मेरे निप्पलों को चूसने लगी. इससे मुझे बहुत मजा आ रहा था और मैं ‘आह आह ओह ओह उफ्फ..’ करने लगा.